ब्रिटिश भारत का अंतिम गवर्नर जनरल कौन था | Who was the last Governor-General of British India in Hindi

भारत का अंतिम गवर्नर जनरल कौन था | Who was the last Governor-General of Birtish India in Hindi

दोस्तो, क्या आप जानना चाहते हैं की भारत के अंतिम (आखिरी) गवर्नर जनरल का नाम क्या है (What is the name of last governor General of Bri India in Hindi) और किस साल में ये भारत के गवर्नर जनरल रहे|

दोस्तो, गवर्नर जनरल को हिंदी में महा राज्यपाल भी बोला जाता है| आज हम इनका नाम बताने के साथ इनके जीवन का संक्षिप्त विवरण भी देंगे| बस आप अंत बने रहिये हमारे साथ|

भारत के अंतिम गवर्नर जनरल कौन था

Who was the last Governor-General of India in Hindi

bharat ka last governor general kon tha
Image Source – Wikipedia.org

ब्रिटिश भारत के अंतिम गवर्नर जनरल विसकाउंट कैनिंग (Viscount Canning) थे| 28 फरबरी 1856 से लेकर 31 अक्टूबर 1858 तक यह भारत के गवर्नर जनरल रहे|

पूरा नाम चार्ल्स जॉन कैनिंग
अन्य नाम फर्स्ट अर्ल कैनिंग, विसकाउंट कैनिंग, क्लेमेनसी कैनिंग
जन्म दिनांक 14 दिसंबर 1812
म्रत्यु 17 जून 1862

लेकिन 1857 के स्वतंत्रता आन्दोलन और विद्रोह के बाद ईस्ट इंडिया कंपनी का शासन भारत में ख़त्म कर दिया गया और भारत का शासन सीधा ब्रिटिश के राजा के हाथों में चला गया|

1858 में एक नया कानून बनाया गया जिसे भारत सरकार कानून 1858 ( Government of India Act 1858) के नाम से जाना जाता है|

यह भी पढ़ें:- भारत का प्रथम गवर्नर जनरल कौन था

इस कानून के तहत भारत के गवर्नर जनरल का पद समाप्त कर दिया गया और इस पद को और अधिक अधिकार देकर वायसराय (Viceroy) का नाम दे दिया गया|

कहने का सीधा सा अर्थ यह है, गवर्नर जनरल के पद को ही 1 नवम्बर 1858 से वायसराय के नाम से जाना जाने लगा| और विसकाउंट कैनिंग को ही प्रथम वायसराय भी बनाया गया|

अगर इस तरह हम देखें तो वाइसकाउंट केनिंग ब्रिटिश भारत के अंतिम गवर्नर जनरल और प्रथम वायसराय थे|

1857 के स्वतंत्रता आन्दोलन और विद्रोह के समय यह ही भारत के गवर्नर जनरल थे|

यह भी पढ़ें:- भारत का सबसे छोटा जिला कोनसा है

गवर्नर जनरल के पद पर रहते हुए किये गए महत्वपूर्ण कार्य

हिंदी विधवा पुनर्विवाह कानून 1856 (Hindu Windows’ Remarriage Act, 1856)

1857 के भारतीय स्वतंत्रता आन्दोलन को कुचला

1857 में कलकत्ता, बॉम्बे, मद्रास विश्वविधालय की स्थापना

वायसराय के पद पर रहते हुए किये गए महत्वपूर्ण कार्य

सिस्टम ऑफ़ बजट बनाया गया

इम्पीरियल सिविल सर्विसेज की शुरुआत हुई

इनकी के कार्यकाल में बंगाल में इंडिगो विद्रोह हुआ था (1859-60)

इंडियन पेनल कोड 1860 का कानून बनाया गया|

यह भी पढ़ें

भारत का प्रथम राष्ट्रपति कौन था

Share your love
Default image
Viral Facts India
Articles: 330

Leave a Reply

close