भारत के प्रथम उप-प्रधानमंत्री कौन थे | Who was the First Deputy Prime Minister of India in Hindi

भारत के प्रथम (पहले) उप प्रधानमंत्री कौन थे | Who was the First Deputy Prime Minister of India in Hindi

दोस्तो, आपने बहुत कम सुना होगा की किसी सरकार में कोई उप-प्रधानमंत्री भी है| लेकिन समय समय पर कई बार उप-प्रधानमंत्री का पद सामने आया है|

आज़ादी से 2019 तक कुल 7 बार उप-प्रधानमंत्री के पद पर किसी को आसीन किया गया है| अभी 2019 की मोदी की सरकार में कोई भी उप-प्रधानमंत्री नहीं है|

आज हम आपको बताएँगे, भारत के प्रथम उप-प्रधानमंत्री का नाम क्या है और इनका कार्यकाल किस वर्ष में रहा|

लेकिन इससे पहले आपको संक्षिप्त में उप-प्रधानमंत्री के पद के बारे में महत्पूर्ण जानकारी दे देते हैं|

यह भी पढ़ें – ब्रिटिश भारत का अंतिम गवर्नर जनरल कौन था

उप-प्रधानमंत्री के बारे में संक्षिप्त जानकारी

उप-प्रधानमंत्री केंद्रीय मंत्री परिषद् का सदस्य होता है|

यह कोई संबेधानिक पद नहीं है| इनके पास कोई विशेष अधिकार भी नहीं होते हैं|

भारत में उप-प्रधानमंत्री कैबिनेट पोर्टफोलियो के पद जैसे गृह मंत्री और वित्त मंत्री का पद भी साथ में रख सकता है|

उप-प्रधानमंत्री का पद वैसे तो जरुरी नहीं है लेकिन जब गठबंधन की सरकार हो तो राजनितिक स्थिरता और ताकत के विकेन्द्रीयकरण के लिए यह पद बनाया जा सकता है|

यह भी पढ़ें – भारत का प्रथम उप राष्ट्रपति कौन था

राष्ट्रीय आपातकाल (National Emergency) में भी यह पद बनाया जा सकता है|

अब तक भारत में 7 उप-प्रधानमंत्री रह चुके हैं|

भारत के प्रथम उपप्रधानमंत्री कौन थे

Who was the First Deputy Prime Minister of India in Hindi

भारत के प्रथम उपप्रधानमंत्री कौन थे
Image Source – wikipedia
पूरा नाम बल्लभभाई झावेर पटेल
जन्म दिनांक 31 अक्टूबर 1875
जन्म स्थान नडियाद गुजरात
जाति पाटीदार
पिता झवेर भाई पटेल
माता लाडबा देवी
व्यवसाय वकील, राजनेता
म्रत्यु 14 दिसंबर 1950

भारत के पहले उप-प्रधानमंत्री वल्लभभाई पटेल थे| यह भारत के प्रथम उप-प्रधानमंत्री होने के साथ साथ, प्रथम गृह मंत्री भी रहे|

इन्होने पद भार 15 अगस्त 1947 को संभाला और 15 दिसंबर 1950 तक इन दोनों पद पर रहे|

कुल मिलकर 3 साल 122 दिन तक दोनों पदों पर इन्होने अपनी सेवायें दी थी|

इस कार्यकाल में जवाहरलाल नेहरु प्रधानमंत्री थे| बल्लभ भाई भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेता थे|

महत्वपूर्ण कार्य

आज़ादी से पहले गुजरात के खेड़ा खंड में किसान आन्दोलन के माध्यम से किसनों को अंग्रेज सरकार से छूट दिलाई

आज़ादी के बाद भारत के गृहमंत्री और उप-प्रधानमंत्री बने और देसी राज्यों का भारत में विलय किया|

हेदराबाद नबाव के विरुद्ध ऑपरेशन पोलो चलाकर, हेदेराबाद को भी भारत में मिला लिया|

भारत के एकीकरण में प्रमुख योगदान देने के कारण इन्हें भारत का लौह पुरुष कहा जाता है|

31 अक्टूबर 2013 को सरदार बल्लभ भाई पटेल की 137वीं जयंती पर गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने इनकी मूर्ति स्मारक का शिलान्यास किया|

इस मूर्ति का नाम स्टेच्यु ऑफ़ यूनिटी है और यह विश्व की सबसे ऊँची मूर्तियों में से एक है|

यह भी पढ़ें:-

भारत का प्रथम मुस्लिम राष्ट्रपति कौन था

भारत का प्रथम गवर्नर जनरल कौन था

भारत का सबसे छोटा जिला कोनसा है

Share your love
Default image
Viral Facts India
Articles: 330

Leave a Reply

close