Mind aur Brain mein kya antar hai

Share your love

क्या आप सर्च कर रहे की माइंड और ब्रेन में क्या अंतर है यदि हां तो आप सही जगह पर आये है इस पोस्ट में हम डिटेल में discuss करेगे की मन (Mind) और दिमाग (Brain) में क्या अंतर है|

इसके साथ-साथ हम यह भी चर्चा करेंगे की (conscious mind), (subconscious mind) और (unconscious mind) क्या होते है|

माइंड और ब्रेन में क्या अंतर है (टेबल के साथ)

मन (mind) का रिलेशन आत्मा (soul) से है जबकि ब्रेन, body, का एक ऑर्गन है, माइंड में विचार (thoughts), चेतना (consciousness), ज्ञान (intellect), इच्छाए (desires), अनुभव (experience), अनुभूतियाँ (cognition), भावनाए (feelings) होती है|

जबकि ब्रेन शरीर के वेरियस ओर्गंस को नर्वस सिस्टम द्वारा इनफार्मेशन पहुचाने वाला डिवाइस है|

रियलिटी में माइंड और ब्रेन उसी तरह होते है जिस तरह साइकिक बॉडी और फिजिकल बॉडी होती है अतः हम कह सकते है की मन साइकिक बॉडी का एक पार्ट है और ब्रेन फिजिकल बॉडी का एक पार्ट है |

सरल भाषा में कहे, तो मन(Mind) का एक सॉफ्टवेयर (software) है और दिमाग (Brain) का हार्डवेयर(Hardware) । यह दोनों मिल के हमारे शरीर के हर एक्टिविटीज को कंट्रोल करता है।

s.no.माइंडब्रेन
यह एक मेंटल थिंग है|यह एक फिजिकल थिंग है|
2. माइंड का कोई शेप और साइज नहीं होता है| ब्रेन का शेप और साइज होता है|
3.माइंड में कोई वेट नहीं होता है| ब्रेन में वेट होता है
4.माइंड मन को कहते है| ब्रेन दिमाग को कहते है|
5.माइंड को देखा और छुआ नही जा सकता है| जबकि ब्रेन को देखा और छुआ जा सकता है|
6.माइंड फीलिंग, इमेजिनेशन, भरोसा, ऐटिटूड आदि जैसे वर्ड्स को कहा जाता है|जबकि दिमाग कोई वर्ड्स नहीं होते बल्कि वो एक बॉडी पार्ट है|
7.माइंड पूरी बॉडी को आर्डर देता है और बॉडी काम करती है|जबकि ब्रेन चीजों को समझने और चीजों को याद रखने में यूज़ किया जाता है|
8.मन आत्मा से जुड़ा होता है|जबकि ब्रेन बॉडी से जुड़ा होता है|
9.मन में फीलिंग, सोचना, चेतना, ज्ञान, इक्षाएँ, अनुभव, अनुभूतियाँ आदि होती हैं जिनके द्वारा मन काम करता है|ब्रेन एक प्रकार की मशीन है जो बॉडी के डीफ्रॉण्ट पार्ट में नर्वस सिस्टम के द्वारा सुचना का आदान प्रदान करता है|
10.माइंड एक प्रकार का सॉफ्टवेयर है और ब्रेन एक प्रकार का हार्डवेयर है
11.यह किसी भी सेल्स से बना नही है|
यह ब्लड वेसल्स और नर्व सेल्स से बना होता है

What is Mind? | मन (Mind) क्या है?

माइंड ब्रेन की उस एबिलिटी को कहते हैं जो इंसान को थिंकिंग पावर, मेमोरी पावर, डिसिशन पावर, विजडम, सेंस, सेंसेस, कंसंट्रेशन, बेहेवियर, एनलाइटनमेंट आदि में केपेबल बनाती है।

सरल भाषा में कहा जाए, तो माइंड एक प्रकार की एनर्जी है जिसे ना तो देखा जा सकता है और ना ही छुआ जा सकता है केवल फील किया जा सकता है

या ये कहे कि माइंड हमारे शरीर का वह पार्ट है जो खुद को जानने, सोचने और समझने में मदद करता है।

माइंड याद रखने (Remember), विचार करने (to consider), मूल्यांकन करने (to evaluate) , समझने (to understand) और निर्णय (decision) लेने में इन्वोल्वड है।

types of Mind | माइंड के प्रकार

माइंड में तीन अलग-अलग लेवल्स होते हैं|
  • सचेत (Conscious)
  • अवचेतन (Subconscious)
  • बेहोश (Unconscious)

कॉन्ससियस माइंड क्या है

यह कॉन्ससियस का फर्स्ट लेवल है जो उस एक्सपेरिएंसेस पर बेस्ड है। जो की सेंसेस की रेस्पोंस, इनफार्मेशन का एनालिसिस करने और कलेक्टेड की गई इनफार्मेशन के आधार पर डिसिशन लेने पर डिपेंडेंट करता है|

कॉन्ससियस माइंड हमारे पूरे Mind का 10%  होता है जब हम कोई भी काम Concentrate होकर या ध्यान लगा कर करते हैं। तो यह हमारे Conscious Mind से होता है।

जैसे जब हम पहली बार कोई काम करते हैं तो हमें उस काम को करने की आदत नहीं होती और हम उस काम को सोच समझ कर और ध्यान देकर करते हैं। उस काम के बारे में जिस Mind से सोचते हैं उसे Conscious Mind कहते हैं।

जैसे- जब हम  किसी भी चीज को पाने की इच्छा करते हैं तो वह हमारे Conscious Mind से जनरेट होता है

सबकॉन्शियस माइंड क्या है?

यह सबकॉन्शियस सेकेंड लेवल है जिसे हिंदी में अवचेतन मन भी कहते हैं। और यह हमारे Mind का 90% भाग होता है।

जो उस इनफार्मेशन को स्टोर करता है जो हमारी क्विक अवेयरनेस के नीचे है। इस तरह की इनफार्मेशन को यादों के रूप में रिकार्ड्स किया जा सकता है।

जब हम कोई भी काम करते हैं जिसमे हमारी पहले से आदत हो गयी होती है तो उसके लिए हमें सोचने की जरुरत नहीं पड़ती। हमारा सब काम अपने आप होता है।  तो यह हमारे Subconscious Mind से होता है।

हमारे Mind में जो Emotional और feeling आती है। ये हमारे Subconscious Mind से आती है।

जब हम किसी भी चीज को ज्यादा दिन तक याद रखते हैं। तो यह हमारे Subconscious Mind में याद होता है। हमारे Subconscious Mind की Power बहुत ही ज्यादा और अलग होती है|

चलिए Example से समझते है,

जैसे- जब हम साइकिल चलना सीख जाते है तो हमें सोचना नहीं पड़ता की हमें कब ब्रेक लगाना है हमारा सबकॉन्ससियस माइंड अपने आप सब करने लगता है|

और जब हम किसी भी बात पर ट्रस्ट कर लेते हैं तो यह ट्रस्ट हमारे सबकॉन्ससियस माइंड में बैठ जाता है हमारे Mind में जो Emotional और feeling आती है। ये हमारे Subconscious Mind से आती है।

अनकॉन्शियस माइंड क्या है?

यह अनकॉन्शियस माइंड का थर्ड लेवल है अनकॉन्शियस माइंड हमारी कॉन्ससियस अवेयरनेस की comparison में बहुत extensive है और नेचुरल desires से बना है।

What is brain? | ब्रेन क्या हैं?

Brain को हिंदी में दिमाग कहते है ये हमारे body का एक पार्ट है जिसे हम देख और छू सकते हैं|

जो mind और consciousness के साथ काम करता है ये शरीर में हमारे सिर के पिछले के हिस्से में होता है जिसे कपाल (skull) कहते हैं

दिमाग सोचने के साथ चीजों को अच्छे से समझने में भी मदद करता है इसमें याददाश्त (memory) नाम का भी शब्द आता है, जिसके जरिये हम चीजों को याद रखते हैं|

Share your love
Default image
Vanshita Tiwari
Articles: 21

Leave a Reply

close