Email और Gmail में क्या अंतर है?

Share your love

क्या आप सर्च कर रहे है की ईमेल और जीमेल में क्या अंतर है यदि हां तो आप सही जगह पर आये है इस पोस्ट में हम डिटेल में discuss करेगे, की ईमेल (Email) और जीमेल (Gmail) में क्या अंतर है|

इसके साथ-साथ हम यह भी चर्चा करेगे की ईमेल और जीमेल होता क्या है|

आज भी बहुत से लोग ऐसे है जिन्हें ईमेल और जीमेल के बीच कन्फ्यूजन है इन्हें Email और Gmail में Difference पता नहीं होता है|

अगर आपको भी इनके बीच कोई कन्फ्यूजन है तो आज हम आपको इन दोनों की पूरी जानकारी देने की कोशिश करेंगे जिससे आपका इन दोनों के बीच का कंफ्यूजन दूर हो जाए और आप भी किसी को इनके बीच अंतर बता सकते है|

ईमेल और जीमेल के बीच अंतर क्या है? (टेबल के साथ)

Email और Gmail में यह अंतर है की किसी भी Electronic Device से भेजा गया हर एक मेल Email कहलाता है, और Gmail Google कंपनी के द्वारा बनाया गया एक Website है जो हमें मुफ्त में Email ID बनाने और Free Email Service का इस्तेमाल करने की फैसिलिटी देती है|

s.no.Email Gmail
1.ईमेल का फुल फॉर्म Electronic mail होता है| जीमेल का फुल फॉर्म google mail होता है|
2.यदि हम किसी मैसेज और लेटर को इंटरनेट के माध्यम से भेजते या प्राप्त करते है तो उसे ईमेल कहते है| जीमेल एक इंटरनेट सर्विस है जिसे गूगल के द्वारा बनाया गया है|
3.ईमेल एक इंटरनेट सर्विस है| जीमेल एक ईमेल सर्विस प्रोवाइडर कम्पनी है जो हमें ईमेल भेजने की फैसिलिटी देती है
4.ईमेल भेजने के लिए हमें ईमेल एड्रेस की जरूरत होती है| Gmail गूगल द्वारा बनाया गया एक फ्री ईमेल सर्विस है

What is Email? | ईमेल क्या है?

Email का Full Form होता है Electronic mail. इसे लोग e-mail, email या Electronic Mail भी कहते हैं यह एक प्रकार का digital message होता है यानी कोई भी लैटर जिसे इलक्ट्रोनिक माध्यम से भेजा या मंगाया जाता है इसे हम इलेक्ट्रोनिक मेल या ईमेल कहते है|

जिसे की एक user दुसरे user के साथ communicate करने के लिए यूज़ करता है. इस email में text, files, images, या कोई attachments भी हो सकता है|

जिसे की network के माध्यम से किसी specific individual या group of individuals को भेजा जा सकता है|

ईमेल में Document, Photo या मेसेज Electronic माध्यम से भेजा या मंगाया जाता है उसे Electronic Mail यानी Email कहते है Email का ज्यादातर यूज़ कई कामो में किया जाता है

इस प्रोसेस में पूरा काम इन्टरनेट के जरिये होता है. पहले ईमेल भेजने के लिए याहू मेल का भी काफी यूज़ किया जाता था|

हमें Email भेजने के लिए बहुत सी कम्पनी सर्विस प्रदान करती है जेसे की Gmail, Yahoo Mail, Hotmail

ईमेल भेजने के लिए जीमेल, याहू मेल, हॉटमेल (Gmail, Yahoo Mail, Hotmail) का प्रयोग किया जाता है यहां हॉटमेल माइक्रोसॉफ्ट कंपनी का ईमेल प्रोसेस है लेकिन सबसे ज्यादा Gmail का यूज़ किया जाता है|

types of Email | ईमेल के प्रकार

ईमेल दो types होते है|
  • वेब बेस्ड ईमेल (Web based Email)
  • पॉप बेस्ड ईमेल (POP Based Email)

What is Web Based Email | वेब बेस्ड ईमेल क्या हैं ?

 वेब आधारित ई मेल (Web Based Email) एक ऐसी Email सर्विस हैं जो कुछ कमर्शियल Website कंपनी अपने यूजर को Free Email अवेलेबल कराती हैं।

इसके लिए सबसे पहले आपको उस वेबसाइट को खोल के उस पर अपना Email id अकाउंट बनाना होगा। यहाँ पर अपना पर्सनल इनफार्मेशन शेयर करते हुए, एक फॉर्म को भरना होगा|

इस फॉर्म में आपका नाम और मोबाइल नंबर और पासवर्ड डालना बहुत जरुरी है|

जब आप ये फॉर्म सही तरह से कम्पलीट भर लेंगे तब आपको लॉगिन नेम (Login id) और पासवर्ड (Password) मिल जायेगा|

जिसका उपयोग करके आप अपने Email अकॉउंट को खोल सकते हैं उससे कही भी Email id भेज सकते हैं, कही से भी Email id रिसीव कर सकते हैं।

Web Based Email id Advantage | वेब बेस्ड ईमेल id के लाभ

Web Based Email का सबसे बड़ा फायदा यह हैं की आप अपने ई मेल Account को कही भी कभी भी खोल सकते हैं उसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसके लिए सबसे पहले आपको उस वेबसाइट को खोलना होगा जिस वेबसाइट पर आपने अपनी email id बनाई हैं। Web Based Email Account free होता हैं|

Web Based Email id Disadvantage | वेब बेस्ड ई-मेल की हानियाँ

 Web Based Email में सबसे बड़ी हानियाँ यह हैं की आप इसमें ऑफलाइन (बिना इंटरनेट कनेक्शन के) काम नही कर सकते हैं।

आपको कोई भी ई मेल तैयार करने या कोई मेल पढ़ने के लिए लगातार इंटरनेट कनेक्शन से जुड़े रहना जरुरी है और उसे वेबसाइट पर भी खोले रखना जरुरी होता हैं| जिसमें आप ने Email अकाउंट बनाये हुए हैं।

इस Email में ये भी कमियाँ होता है की अटैचमेंट (Attachment) के रूप में भेजी जाने वाली फाइलों की शेप और नंबर पर एक लिमिटेड का सैंक्शंस होता हैं।

Pop Based E mail क्या होता हैं ?

पॉप(Pop) का पूरा नाम पोस्ट ऑफिस प्रोटोकॉल(Post Office Protocol) हैं।

यह एक ऐसा प्रोटोकॉल हैं,जो वेब सर्वर के साथ अपनाया जाता हैं। जब हम और आप किसी इंटरनेट सर्विस देने वाली कंपनी से इंटरनेट कनेक्शन लेते हैं|

तो हमें वो कंपनी यूजरनेम और पासवर्ड के साथ एक ईमेल आईडी भी देता हैं।यह e mail id एक तरह से अकाउंट जैसे होता हैं इसे मेल बॉक्स (Mail Box) भी कहा जाता हैं।

आपके नाम से आये हुए जरुरी मेसेज इसी अकाउंट में जमा होते हैं। आप अपने जरुरत के अनुसार उस मेसेज को कभी भी पढ़ सकते हैं। इस खाते को खोलने के लिए आपको यूजर नेम और पासवर्ड की जरुरत पड़ता हैं।

Pop Based Email id Advantage | पॉप आधारित ई-मेल के महत्पूर्ण लाभ

  • पॉप बेस्ड ई-मेल खाते से हमें सबसे ज़्यदा जरुरी लाभ यह हैं की हम ऑफलाइन(बिना इंटरनेट कनेक्शन के जोड़े) भी अपना ई मेल तैयार कर सकते हैं।
  • और फिर अपने जरुरत के अनुसार इंटरनेट कनेक्शन को जोड़ कर एक साथ उन सभी को भेज सकते हैं।   
  • इसमें इंटरनेट कनेक्शन से जोड़े रखने पर काफी कम इंटरनेट डाटा का इस्तेमाल होता हैं।
  • अपने ई मेल पर आयी हुई ई मेल को डाउनलोड कर सकते हैं और उसे ऑफलाइन कभी भी पढ़ सकते हैं।
  • इस माध्यम से आप बड़े साइज की फाइलों को भी अन्य लोगो को ई मेल के साथ अटेचमेंट के रूप में आसानी से भेज सकते हैं।

Pop Based Email id Advantage Disadvantages | पॉप आधारित ई-मेल की हानियाँ

 पॉप बेस्ड ईमेल में सबसे बड़ी हानि यह हैं की उस ईमेल को सिर्फ उन कंप्यूटर में ही खोला जा सकता हैं जो इंटरनेट सर्विस देने वाली कंपनी के सर्वर से जुड़ा हुआ हो।

इसका अर्थ यह हैं की जनरली आप दूसरे कंट्री या स्टेट या फिर दूसरे सिटी में अपने ई मेल को नही खोल सकते हैं।

What is Gmail? | जीमेल क्या है?

Gmail गूगल द्वारा बनाया गया एक फ्री ईमेल सर्विस है, जिसे आप आसानी से घर से ही बैठे बैठे कोई भी मैसेज दूसरे इंसान को भेज सकते है आप मैसेज के साथ photos, document, फाइल को अटैच करके भी सेंड कर सकते है|

Gmail को Google ने 4 अप्रैल 2004 को लांच किया था. इसका यूज़ हम किसी व्यक्ति को Email भेजने के लिए करते है|

स्टार्टिंग में जीमेल की स्टोरेज कैपेसिटी 1GB थी, पर आज 15GB तक डाटा जीमेल में स्टोरज क्र सकते है, आप गूगल ड्राइव को यूज़ करके इससे स्टोरी कैपेसिटी को ओर बढ़ा सकते है|

जीमेल के लिए android aap मौजूद है जिससे आप अपने एंड्राइड स्माट फ़ोन में डाउनलोड कर सकते है और कंप्यूटर में Brower से आप सीधे gmail login कर सकते है|

अगर आप Gmail का प्रयोग फोन से करना चाहते है तो आप इसके एंड्राइड ऐप को प्ले स्टोर से  डाउनलोड करके इसका अच्छे से उपयोग कर सकते है।

Gmail account कैसे बनायें? 

ब्राउज़र या Gmail एप्प खोलते है तो सबसे पहले आपको Gmail अकाउंट ID बनाना होता है तो आपको Create Gmail Account Option के जरिये यहाँ पर क्लिक करके आपको अपना Gmail अकाउंट खोलना है अगर आपके पास जीमेल ईमेल I’d है तो आप उससे भी खोल सके है|

तो आप डायरेक्ट अपनी ईमेल I’d से Login कर सकते है लेकिन अगर आपकी Gmail ID नहीं है तो आपको Create अकाउंट के ऑप्शन पर जाकर सभी डिटेल्स फील करने के बाद आप की जीमेल id ओपन हो जाएगी|

और आप इस पर आपकी ईमेल I’d और उसका पासवर्ड जो की आप अपने फेवरेट हिसाब के अकॉर्डिंग भर सकते है उस अकाउंट को बनने के बाद Gmail ID और पासवर्ड को नोट कर ले और जो की हमेशा आपके काम आएगा।

Share your love
Default image
Vanshita Tiwari
Articles: 21

Leave a Reply

close