B.pharma aur D.pharma mein kya antar hai

Share your love

क्या आप सर्च कर रहे है की बी.फार्म और डी.फार्म में क्या अंतर है यदि हां तो आप सही जगह पर आये है इस पोस्ट में हम डिटेल में discuss करेगे की बी.फार्म (B.pharma) और डी.फार्म (D.pharma) में क्या अंतर है|

इसके साथ साथ हम यह भी चर्चा करेगे की फार्मेसी (Pharmacy) क्या होती है|

बी.फार्मा और डी.फार्मा में क्या अंतर है (टेबल के साथ)

विवरण (Particulars)बीफार्मा (B.pharma)डीफार्मा (D.pharma)
कोर्स का नाम  
(Name of the course)
फार्मेसी स्नातक
(Bachelor of Pharmacy) 
 
फार्मेसी में डिप्लोमा
(Diploma in Pharmacy)
शिक्षा का स्तर
(Education level)
अंडर ग्रेजुएट (Undergraduate)अंडर ग्रेजुएट (Undergraduate)
कोर्स के प्रकार
(Type of the course)
डिग्री कोर्स (Degree course)
(B.Pharma)
 
डिप्लोमा कोर्स (Diploma course)
       (D.Pharma)
पाठ्यक्रम की अवधि
(Duration of the course)
4 साल 2 साल
पात्रता
Eligibility 
10+2with 55%10+2with 55%
पढ़े हुए विषय
Subjects studied 
जीव विज्ञान, भौतिकी, रसायन विज्ञान (Biology, Physics, Chemistry)जीव विज्ञान, भौतिकी, रसायन विज्ञान (Biology, Physics, Chemistry)
प्रवेश का मानदंड
Admission criteria
राज्य/राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा (State/National level entrance tests)विश्व विद्यालय प्रवेश परीक्षा, परामर्श आधारित, योग्यता आधारित प्रवेश, राज्य प्रवेश परीक्षा (University entrance tests, counselling based, merit-based admission, State entrance exams)
परीक्षा स्वीकृत
Exam accepted 
बिटसैट,डब्ल्यूबी जेईई,  टीएस ईएएमसीईटी, एपी ईएएमसीईटी,  मेट, यूपीएससी,  ( BITSAT, WBJEE, TS EAMCET, AP EAMCET, MET, UPSEE)एपी ईएएमसीईटी राज्य स्तरीय काउंसलिंग (AP EAMCET, state-level counselling)


करियर का दायरा 
Career scope
ड्रग इंस्पेक्टर, रिसर्चर, फार्मा  कंसल्टेंट  (Drug inspector, Research, Pharma consultant, etc.)
फार्मासिस्ट, फार्मेसी स्टोर, शिक्षा क्षेत्र (Pharmacist, pharmacy store, education sector, etc.) 

बीफार्मा चार साल का कोर्स होता है और डीफार्मा दो साल का कोर्स होता है इन्हे करके स्टूडेंट अपना करियर अच्छी तरह बना सकते है

अगर आप फार्मासिस्ट बनना चाहते है, तो इसके लिए आप इंटर के बाद बीफार्म यानी बैचलर ऑफ फार्मेसी कोर्स कर सकते हैं, जो ग्रेजुएशन की डिग्री होती है।

What is Pharmacy ?

फार्मेसी क्या है ? 

 दवाइयों (Medicines) को तैयार (preparing) करने और वितरित (Dispensing) करने के विज्ञान (science) और अभ्यास (Practice) को फार्मेसी कहते हैं |

इसमें फार्मास्युटिकल (Pharmaceutical) दवाओं के सुरक्षित (Safe) और प्रभावित (Effective) उपयोग को सुनिश्चित (Assured) करना शामिल है

पेशेवर (Professionals)  जो दवाइयों (Medicines),  संरचना (Composition), प्रभात (Effect) और अन्य तौर-तरीकों (Ways) के उपयोग के विशेषज्ञ (Expert) हैं  वे फार्मासिस्ट (Pharmacists) या  ड्रगिस्ट (Druggists) है |

फार्मासिस्ट (Pharmacists) या ड्रग इंस्पेक्टर (Drug Inspector) बनने के लिए फार्मेसी में करियर बनाने के लिए 1 उम्मीदवार (Candidate) को स्नातक की डिग्री (Bachelor Degree)  पूरी करनी होती है| 

शुरुआत (Starting) में फार्मेसी में आगे बढ़ने के लिए 12वीं के कैंडिडेट के पास दो विकल्प होते हैं पहला विकल्प है बी फार्मा (B.Pharma)  और दूसरा विकल्प है डी फार्मा ( D.Pharma)|

फार्मेसी (Pharmacy) करने के लिए बी.फार्मा कोर्स (B.Pharma course) , डी .फार्मा कोर्स (D.Pharma course) और एम.फार्मा कोर्स (M.Pharma course) को करके आप दवाइयों के बारे में जानकारी  (Information) ले सकते हैं |

इन कोर्स (Course) को करने के बाद आप मेडिकल फील्ड में आसानी से अपना करियर बना सकते हैं |

Types of pharmacy | फार्मेसी के प्रकार

फार्मेसी दो प्रकार की होती है |
  • बी.फार्मा (Bachelor in pharmacy)
  •  डी.फार्मा  (Diploma in pharmacy)

What is B.Pharma?

बी.फार्मा क्या है ?

बी.फार्मा  फार्मेसी क्षेत्र (Pharmacy field) का एक बैचलर डिग्री कोर्स (Bachelor Degree Course) है जिसमें छात्रों (Students) को दवाइयों(Medicines), औषधियों(Drugs) से संबंधित (Related) छोटी-बड़ी जानकारी सिखाई जाती है

इसके अलावा बी फार्मा कोर्स (Course) में दवाइयों के बारे में भी  जानकारी दी जाती है कि किस मरीज (Patient) को कौन-सी  दवा देनी होती है | 

बैचलर ऑफ फार्मेसी (Bachelor of Pharmacy)  के नाम से जाहिर (Obviously) होता है  की  यह कोर्स पैरामेडिकल यानी चिकित्सा (Medicine) से जुड़ा हुआ है

यह कोर्स (Course) 4 साल का एक बैचलर डिग्री कोर्स (Bachelor Degree Course) है  जिसे 8 सेमेस्टर (Semester) में बांटा गया है इस कोर्स (Course) को पूरा करके  चिकित्सा क्षेत्र (Medicine field) में जा सकते हैं |

Qualification of B Pharma | बी.फार्मा की  योग्यता

बी फार्मा करने के लिए आपके पास आवश्यक योग्यताएं होना जरूरी है |

  • बी फार्मा करने के लिए सबसे पहले आपको 12th class में फिजिक्स (Physics),  केमेस्ट्री (Chemistry), मैथमेटिक्स (Mathematics) और बायोलॉजी सब्जेक्ट (Biology Subject) के साथ पास होना जरूरी है |
  •  न्यूनतम योग्यता आवश्यक :- 10+2 या समक्ष परीक्षा 

(Minimum Qualification Required :- 10+2 or Equivalent Examination.)

  • न्यूनतम आवश्यक अंग :- विज्ञान विषय 10+2 में न्यूनतम 50%

(Minimum Marks Required :- Minimum 50% In 10+2 In Science Subjects.)

  • आयु सीमा :- बी.फार्मा के लिए आयु सीमा आरक्षित वर्ग के लिए 20 वर्ष और आरक्षित वर्ग के लिए 22 वर्ष है |

(Age Limit :- Age limit for B.Pharma is 20 years for category and 22 year for reserved category.)

Exam Type :- Semester wise 

Duration : 4 years

B.Pharma Course Fees | बी.फार्मा कोर्स  फीस

बी.फार्मा कोर्स (B.Pharma Course) की फीस सभी कॉलेजों में अलग-अलग होती है प्राइवेट कॉलेजों में 20000 से 125000 तक की सालाना फीस  होती है | 

और वाली सरकारी कॉलेजों की बात करें तो  पहले उसमें एंट्रेंस एग्जाम पास होना बहुत जरूरी है उसके बाद आप  इस का पता लगा सकते हैं की सरकारी  कॉलेजों में कितनी फीस है |

What is D.Pharma ?

डी फार्मा क्या है ?

डी फार्मा (D.Pharma) को इंग्लिश में  डिप्लोमा इन फार्मेसी (Diploma in Pharmacy)  और हिंदी में फार्मेसी में डिप्लोमा कहा जाता है यह फार्मेसी के क्षेत्र (Field) में 2 साल का होता है, जिसमें 4 सेमेस्टर (Semester) होते हैं |

जिसमें आपको दवा से जुड़ी हर तरह की जानकारी प्रदान की जाती है जैसे की दवाई कैसे बनती है दवा कैसे किस एकत्र की जाती है|

साथ ही दवा की खुराक (Dose) का उपयोग कैसे किया जाता है और दवाइयों की मार्केटिंग (Marketing) कैसे बनती है और इससे जुड़ी सभी जानकारियां बताई जाती हैं |

फार्मेसी मूल रूप (Value from) से एक स्वास्थ्य क्षेत्र (Health sector)  है जिसमें नई-नई दवाओं पर शोध (Research)  कर उनमें  सुधार करने की कोशिश करते हैं |

और आप डी.फार्मा कोर्स करना चाहते हैं तो आप पीसीएम (PCM), पीसीबी (PCB)  या अन्य विषय वाले भी डी.फार्मा का कोर्स (D.Pharma course) कर सकते हैं इसी के साथ-साथ 12th में Minimum 50% से 55% होनी चाहिए |

अब हम देखते हैं डी फार्मा कोर्स (D.Pharma course) करने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए|

Qualification of D.Pharma

डी.फार्मा के लिए योग्यता

  • पीसीबी/पीसीएम  में न्यूनतम 50% अंकों के साथ किसी भी स्वीकृत बोर्ड से हायर सेकेंडरी (10+2) उत्तीर्ण हो

(Passed Higher Secondary (10+2) from any approved board with minimum 50% marks in PCB/PCM.)

Exam Type :- Semester wise

Duration :- 2 years

Entrance Exam for D.Pharma Course

  • यदि आप डी.फार्मा कोर्स (course) करना चाहते हैं तो आप 12th pass करने के बाद किसी भी सरकारी कॉलेज या फिर प्राइवेट कॉलेज से कर सकते हैं |
  • अगर आप किसी सरकारी कॉलेज से डी फार्मा कोर्स (D.Pharma course)  करना चाहते हैं तो उसके  लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम (Entrance  Exam) देना होगा, 
  • फिर एंट्रेंस एग्जाम (Entrance Exam) में मेरिट के आधार पर ही आपको  सरकारी कॉलेज (Government College)  में एडमिशन (Admission) मिलेगा |
  • इसके अलावा यदि आप बिना एंट्रेंस एग्जाम दिए कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते हैं तो आप किसी प्राइवेट कॉलेज में डायरेक्ट एडमिशन ले सकते हैं | 

D.Pharma course fees

डी.फार्मा कोर्स फीस

D.Pharma course fees सभी कॉलेजों में अलग-अलग होती है सरकारी कॉलेज में 40 हजार  से 45 हजार के करीब फीस रहती है और प्राइवेट कॉलेजों में 80 हजार  से 1 लाख तक के करीब  फीस रहती है |

लेकिन ध्यान रहे कि किसी भी कॉलेज में एडमिशन लेने से पहले उस कॉलेज की जानकारी जरूर ले लें |

Share your love
Default image
Vanshita Tiwari
Articles: 21

Leave a Reply

close