विश्व गोरैया दिवस – दिल्ली की राज्य पक्षी है गोरैया चिड़िया

Share your love

विश्व गोरैया दिवस कब है और क्यों मनाया जाता है | दिल्ली का राज्य पक्षी कौन है | When is World Sparrow Day Date

विश्व गोरैया दिवस

World Sparrow Day in Hindi

विश्व गोरैया दिवस हर साल 20 मार्च को मनाया जाता है| इसकी शुरुआत वर्ष 2010 में हुई थी|

गोरैया पक्षी की कम होती संख्या को देखते हुए और इस प्यारी सी चिड़िया के संरक्षण के लिए 20 मार्च को World Sparrow Day पूरे विश्व में मनाया जाता है|

क्या आप जानते हैं गोरैया दिल्ली की राज्य पक्षी भी है| जी हाँ दोस्तो, दिल्ली से तो जैसे यह छोटी सी चिड़िया गम ही हो गई है|

दिल्ली सरकार ने इसलिए गोरैया के संरक्षण को ध्यान में रखकर 2011 में इसे राज्य पक्षी घोषित कर दिया था|

अब जो नए बच्चे है जो करीब 10 या 12 साल के होंगे, उन्होंने तो शायद ही इस चिड़िया को देखा होगा| लेकिन अब सरकार के प्रयासों से दिल्ली के आस पास के गाँव के क्षेत्रों में गोरैया चिड़िया आने और दिखने लगी है|

क्या कारण है दिल्ली से गोरैया गायब हो गई

  • भोजन और जल की कमी
  • घोसलों के लिए उचित स्थान न मिलना
  • तेजी से कटते पेड़ पोधे
  • शहरों में बढ़ता तापमान
  • गोरैया के लुप्त होने का कारण माना जाता है

कई लोग दिल्ली में प्रदुषण इसका कारण बताते हैं| लकिन जब से दिल्ली में CNG प्रयोग में लाई गई है तब से ही गोरैया चिड़िया गायब हो गई|

शायद CNG से उत्पन्न गर्मी इस पक्षी को बर्दाश्त नहीं| लेकिन कई आंकड़ों के अनुसार पूरे विश्व में गोरैया चिड़िया में कमी आई है|

पर्यावरण वैज्ञानिकों ने अब गोरैया को लुप्त होती हुई प्रजाति की लिस्ट में डाल दिया है|

कैसे बचाएं गोरैया को

हम सब के सयुंक्त प्रयासों से ही गोरैया को बचाया जा सकता है| इसके लिए आप बालकनी और छत पर कुछ छायादार जगह का इन्तेजाम करें|

गोरैया के लिए छत और बालकनी में एक बर्तन में पानी भर कर रखें और खाने के लिए दाना भी छत और बालकनी में एक बर्तन में रख दें|

गोरैया दिल्ली में नहीं आ रही है इसका सबसे बड़ा कारण तेजी से बढ़ता हुआ तापमान है जो CNG के प्रयोग से और बढ़ गया है|

भारत का सबसे लम्बा पुल कोनसा है

Share your love
Default image
Anurag Pathak
इनका नाम अनुराग पाठक है| इन्होने बीकॉम और फाइनेंस में एमबीए किया हुआ है| वर्तमान में शिक्षक के रूप में कार्यरत हैं| अपने मूल विषय के अलावा धर्म, राजनीती, इतिहास और अन्य विषयों में रूचि है| इसी तरह के विषयों पर लिखने के लिए viralfactsindia.com की शुरुआत की और यह प्रयास लगातार जारी है और हिंदी पाठकों के लिए सटीक और विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराते रहेंगे
Articles: 369

Leave a Reply