What is Metabolism and how it works in Hindi | मेटाबोलिज्म या चयापचय क्या है और कैसे काम करता है

What is Metabolism meaning and how it works in Hindi | मेटाबोलिज्म या चयापचय क्या है और कैसे काम करता है

दोस्तो, यदि आपका वजन बढ़ गया है या आपका वजन बहुत कम है और आप शारीरिक रूप से कमजोर हैं, तो आपको किसी न किसी ने तो कहा होगा की आपका मेटाबोलिज्म ठीक नहीं है|

मेटाबोलिज्म से आपने सोचा होगा की मेरा पाचन तंत्र (Digestion System) कमजोर होगा| दोस्तो में यहाँ आपको बता दूँ मेटाबोलिज्म एक बहुत बड़ी आतंरिक रासायनिक प्रक्रिया है और इसके कई भाग है| पाचन तंत्र का कार्य भी मेटाबोलिज्म के दायरे में ही आता है|

आज में मेटाबोलिज्म से सम्बन्धित आपके सारे सवालों का जवाब देने वाला हूँ| मेटाबोलिज्म के बारे में लोगों के मन में कुछ भ्रांतियां भी हैं इसकी भी आगे चर्चा करेंगे|

सबसे पहले हम साधारणतय समझ लेते हैं आखिर मेटाबोलिज्म होता क्या है और इसका मानव शरीर में कार्य और महत्त्व क्या है ( What is Metabolism meaning in Hindi its functions and Importance in Human Body in Hindi)

What is Metabolism in Hindi ( मेटाबोलिज्म क्या है )

मेटाबोलिज्म (Metabolism) एक ग्रीक शब्द Μεταβολισμός – “Metabolismos” से बना है| इस शब्द का मतलब है ‘change’ बदलाव और ‘overthrow’

किसी भी जीवित प्राणी के आतंरिक (अन्दर) शरीर में होने वाली सभी रासायनिक प्रक्रियाओं (Chemical Reactions) को संगठित रूप से मेटाबोलिज्म कहते हैं|

इन रासायनिक क्रियाओं से हमेशा जीव शरीर में स्थायी बदलाव होते रहते हैं|

जैसे भोजन का पचना जिससे उर्जा का निर्माण होता है और हम अपने दैनिक जीवन के कार्य कर पाते हैं, इसके अलावा जीवित प्राणी के शरीर का विकास और बाहरी वातावरण के साथ प्रतिक्रिया भी मेटाबोलिज्म के माध्यम से ही हो पाती है|

कहने का मतलब है, किसी भी जीवत प्राणी का अस्तित्व इस प्रथ्वी पर शरीर के अन्दर हो रही सभी रासायनिक क्रिया प्रक्रिया के माध्यम से ही संभव हो पाता है जिसे हम मेटाबोलिज्म कहते हैं|

समझे, पाचन तंत्र की प्रक्रिया, मेटाबोलिज्म का एक केवल हिस्सा भर है|

साधारणतय, मेटाबोलिज्म की प्रक्रिया में होने वाले कार्यों को मुख्यतः तीन भागों में विभाजित किया गया है|

  1. इस प्रक्रिया में खाने (food) को उर्जा में बदला जाता है| जिससे हमारे शरीर की कोशिकाएं इस उर्जा का प्रयोग करके अपने कार्य करती हैं| इस प्रकिया में बड़े अणुओं को तोड़कर छोटे अणुओं में बदला जाता है| प्राणी अपने दैनिक जीवन के कार्य इसी उर्जा के माध्यम से कर पाता है|
  2. दूसरी प्रक्रियां में छोटे अणुओं को बड़े अणुओं में बदला जाता है, इस प्रक्रिया में फ़ूड को पहले छोटे अणुओं में बदला जाता है फिर इन छोटे अणुओं से प्रोटीन, लिपिड्स, न्यूक्लिक एसिड और कार्बोहायड्रेट का निर्माण किया जाता है| इन तत्वों से जीवित प्राणी के शरीर के आतंरिक और बाहरी अंगों का विकास होता है|
  3. तीसरी प्रक्रिया में शरीर के अन्दर रासायनिक प्रक्रिया के कारण बने हानिकारक सह उत्पादों जैसे nitrogenous waste को शरीर से बाहर निकाला जाता है| यह सह उत्पाद जीवित शरीर से पसीने, पेशाब और मल के रूप में शरीर से बाहर निकलते हैं|

यदि ये तीनों प्रक्रियां न हों तो शरीर का जीवित रहना और कोई भी एक प्रक्रिया न हो तो शरीर और दिमाग का विकास नहीं हो पाता है|

कहने का साधारण सा अर्थ है, यदि हम अपने मेटाबोलिज्म को ठीक रखें तो स्वस्थ रह पायेंगे और इस प्रथ्वी पर अपनी पूर्ण उर्जा के साथ जीवन भी जी पायेंगे|

अपने मेटाबोलिज्म को ठीक रखने के लिए केवल व्यायाम ही काफी नहीं है इसके अलावा भी आपको अपने जीवन के हर पहलू में संतुलन बनाना होगा| तब ही यह मुमकिन है|

आर्टिकल के आखिर में इस बारे में बात करूँगा, अभी हम मेटाबोलिज्म क्या है इसके कार्य और जीवित प्राणी में इसके महत्त्व की विस्तार से चर्चा कर लेते हैं|

Types of Metabolism in Hindi (मेटाबोलिज्म के प्रकार)

मेटाबोलिक रिएक्शन को दो भागों में वर्गीकृत किया गया है|

केटाबोलिक (Catabolic):-

इस प्रक्रियां में भोजन को छोटे अणुओं में तोडा जाता है| पाचन प्रक्रिया में भोजन में उपस्थित कार्बोहायड्रेट, स्टार्च और सुगर को ग्लूकोस में बदला जाता है| इस ग्लूकोस को कोशिकाएं (Cells) pyruvate में कन्वर्ट करके उर्जा में बदल देती हैं| इस प्रक्रियां में उर्जा बनती है|

एनाबोलिक (Anabolic):-

इस प्रक्रियां में छोटे अणुओं से बड़े अणु बनाएं जाते हैं जैसे प्रोटीन, कार्बोहायड्रेट, लिपिड्स, न्यूक्लिक एसिड| इन सभी तत्वों से जीव के आतंरिक और बाहरी अंगों का विकास होता है| इस प्रक्रिया में उर्जा का उपयोग किया जाता है|

What is Metabolic Pathways in Hindi

मेटाबोलिज्म में कई प्रकार की जैव रासायनिक (biochemicals) प्रक्रियाएं होती हैं| इन रासायनिक रिएक्शन में एक केमिकल को कई स्टेज में दुसरे केमिकल में बदला जाता है और हर एक स्टेज पर एक एंजाइम का प्रयोग होता है|

यह एंजाइम, एक catalyst की तरह काम करते हैं| catalyst केमिकल रिएक्शन को संतुलित (regulate) और तेज करते हैं|

यह मेटाबोलिक प्रक्रिया की अलग अलग स्टेज ही ‘Metabolic Pathways’ कहलाते हैं|

What is BMR in Hindi (बीएमआर क्या है)

दोस्तो, आपने BMR के बारे में भी सुना होगा| BMR भी मेटाबोलिज्म से ही सम्बंधित है| BMR की फुल फॉर्म है, Basal Metabolism Rate.

BMR बताता है, जब कोई जीवित व्यक्ति आराम कर रहा है, उस समय आतंरिक अंगों को कार्य करने के लिए और रासायनिक क्रिया प्रक्रिया के लिए कितनी उर्जा की आवश्यकता है|

कैसे काम करता है मेटाबोलिज्म

देखिये जितने भी जानवर, पेड़ पोधे और माइक्रोब्स है इनका शरीर तीन तत्वों से बना होता है|

    1. एमिनो एसिड
    2. कार्बोहायड्रेट
    3. लिपिड (फैट)

इन तत्वों को बायोकेमिकल बोला जाता है| मेटाबोलिक रासायनिक प्रक्रिया में या तो इन तत्वों को तोड़कर उर्जा में बदला जाता है|

या फिर इन तत्वों का प्रयोग करके शरीर के अन्दर की सेल्स और टिश्यू का निर्माण किया जाता है|

इन बायोकैमिकल के माध्यम से polymers जैसे डीएनए, प्रोटीन और अन्य बड़े मॉलिक्यूल का निर्माण क्या जाता है|

आइये एक एक करके सबको समझ लेते हैं|

एमिनो एसिड्स और प्रोटीन्स

प्रोटीन्स का निर्माण एमिनो एसिड्स से होता है| ज्यादातर प्रोटीन एंजाइम होते हैं जो बायोकेमिकल प्रतिक्रियाओं (Reaction) में उत्प्रेरक (catalyst) का काम करते हैं|

कुछ प्रोटीन का काम स्ट्रक्चरल और मैकेनिकल होता है| यह शरीर के अंगों के निर्माण में काम आते हैं|

प्रोटीन कई तरह के कार्य करते हैं जैसे

  1. कोशिकाओं के बीच में संचार (Cells Signalling)
  2. रोगप्रतिरोधक प्रतिक्रिया (Immune responses)
  3. कोशिकाओं को बांधे रखना (Cell adhesion)
  4. झिलियों के बीच में यातायात (active transport across membranes)
  5. कोशिकाओं का निर्माण (Cell Cycle) इत्यादि शामिल है|

Lipids (fats):-

लिपिड्स भी मेटाबोलिज्म रिएक्शन का प्रमुख घटक है| यह कोशिकाओं के बीच में झिल्ली (Cell membrane) का काम करता है और उर्जा के श्रोत के रूप में भी प्रयोग किया जाता है|

लिपिड्स को फेट्स (वसा) के नाम से भी जाना जाता है| यह फैटी एसिड्स और ग्लिसरॉल से बना होता है|

कार्बोहाइड्रेट्स

कार्बोहायड्रेट को aldehydes और ketones के नाम से भी जाना जाता है| इनका एक सीधी चैन और एक रिंग के आकर का होता सकता है| कार्बोहायड्रेट कई तरह के कार्य करता है|

जैसे यह उर्जा को स्टोर और ट्रांसपोर्ट करने का कार्य करता है|

आशा करते हैं, अब आप मेटाबोलिज्म के बारे में समझ गए होंगे| कोई और जानकारी की आवश्यकता हो तो कमेंट में जरुर बताएं|

यह भी पढ़ें:-

what is spleen and its functions in human body in hindi (तिल्ली क्या है और इसके कार्य)

Share your love
Default image
Viral Facts India
Articles: 330

Leave a Reply

close