भारतीय भैंस की नस्ल के प्रकार | Types of Buffalo breeds in India in Hindi

Share your love

भैंस कितने प्रकार की होती है | भारतीय भैंस की नस्ल के प्रकार | Types of buffalo breeds in india in hindi | bhens ki prajati ke naam | भैंसों की कितनी प्रजाति हैं|

दोस्तो, भारत में भैंस मुख्यतः दूध के लिए पाली जाती हैं| अगर आप भी डेरी का बिज़नस या अपने घर के लिए एक भैंस खरीदने का मन बना रहे हैं तो पहले यह जान लें की कितने प्रकार की भैंस की प्रजाति भारत में पाई जाती हैं|

आपको भैंस भी वही खरीदनी है जो ज्यादा दूध दे और आप जहाँ रहते हैं वहां के मौसम में रहने लायक हो|

हमने यहाँ भारत में पाई जाने वाली प्रमुख भैंसों की नस्ल के बारे में जानकारी दी है| इसमें से जो आपको बेहतर लगे और आसानी से आपके क्षेत्र के पशु मेले में मिल जाए खरीद सकते हैं|

भारतीय भैंस की प्रजाति के प्रकार | Types of Indian Buffalo Breeds in India in Hindi

1. मुर्राह (Murrah):-

मुर्राह भैंस वाटर बफैलो की प्रजाति से आती है| इन्हें मुख्यतः दूध के लिए पालते हैं और पंजाब हरियाणा
राज्यों में पाई जाती हैं|

अगर हम जिलों की बात करें तो भिवानी, हिसार, रोहतक, जींद, झझर, फतेहाबाद, गुडगाँव और दिल्ली
में पाई जाती है|

2. भदावरी (bhadawari):-

भदावरी भैंस भी वाटर बफैलो प्रजाति की नस्ल है|

यह मुख्यतः उत्तर प्रदेश में पाई जाती है| अगर हम
जिलों की बात करें तो आगरा, इटावा उत्तर प्रदेश में और भिंड, मोरेना मध्य प्रदेश में पाई जाती है|

3. जाफराबादी (Jaffarabadi):-

जाफराबादी भैंस गुजरात में पाई जाती है| ऐसा माना जाता है पुरे वर्ल्ड में केवल 25000 जाफराबादी भैंस
हैं|

इस प्रजाति की भैंस ब्राज़ील भी निर्यात की गई हैं| यह प्रजाति अफ्रीकन केप बफैलो और इंडियन
वाटर बफैलो को क्रॉस ब्रीड करके इजाद की गई है|

इस प्रजाति की भैंस जाफराबाद में ही ज्यादातर पाई जाती हैं| इसका सिर भरी होता है और सिंह बड़े और
मुड़े हुए होते हैं|

4. सुरती (Surti):-

सुरती प्रजाति के भैंस गुजरात में पाई जाती हैं और यह भी वाटर बफैलो फॅमिली से आती हैं| गुजरात में
माही और साबरमती नदी के पास ज्यादातर देखने को मिलती हैं|

गुजरात में आनंद, कैरा और बरोड़ा में इसकी सबसे अच्छी प्रजाति पाई जाती हैं|

5. मेहसाना (Mehsana):-

मेहसाना, भी वाटर बफैलो फॅमिली से आती हैं| इसे मुर्राह और सुरती को क्रॉस ब्रीड करके बनाया गया है|

इनको दूध उत्पादन के लिए ही पाला जाता है| यह भारत के गुजरात राज्य में पाई जाती है|

6. नागपुरी (Nagpuri):-

नागपुरी भैंस महाराष्ट्र में पाई जाती है| इस भैंस की ख़ास बात सूखे इलाकों में भी जीवन निर्वाह करना है|

महाराष्ट्र के सूखे इलाकों में दूध उत्पादन के लिए भैंस की सबसे उत्तम प्रजाति है|

7. निल्ली-रवि (Nili-Ravi):-

नीली रवि भी वाटर बफैलो प्रजाति की भैंस है| यह ज्यादातर भारत पाकिस्तान के पंजाब क्षेत्र में पाई जाती
है|

यह मुख्यतः दूध के लिए ही पाली जाती है|

8. Pandharpuri buffalo

पंढरपूरी भैंस भी वाटर बफैलो प्रजाति की भैंस है| यह महाराष्ट्र के सूखाग्रस्त इलाकों में पाई जाती है| जैसे
सोलापुर, कोल्हापुर, सतारा, सांगली इत्यादि|

इसका नाम सोलापुर के एक कसबे पंढरपुर से लिया गया है|

इस प्रजाति की ख़ास पहचान इसके 45 – 50 सेंटीमीटर लम्बे सिंह है|

Share your love
Anurag Pathak
Anurag Pathak

इनका नाम अनुराग पाठक है| इन्होने बीकॉम और फाइनेंस में एमबीए किया हुआ है| वर्तमान में शिक्षक के रूप में कार्यरत हैं| अपने मूल विषय के अलावा धर्म, राजनीती, इतिहास और अन्य विषयों में रूचि है| इसी तरह के विषयों पर लिखने के लिए viralfactsindia.com की शुरुआत की और यह प्रयास लगातार जारी है और हिंदी पाठकों के लिए सटीक और विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराते रहेंगे

Articles: 553

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *