Red Rain in Kerala Hindi | जानिए केरल में हुई लाल रंग की वरिश का रहस्य

0
815
red rain in kerala

Red Rain in Kerala in hindi | Blood Rain in Kerala in hindi :- दोस्तो, ये दुनिया हमेशा इंसान के लिए एक रहस्य ही रही है| इंसान इस संसार में होने वाली रहस्मयी घटनाओं का कारण जानने के लिए हमेशा प्रयास करता रहता है|

लेकिन बंधुओं कुछ रहस्मयी घटनाओं का कारण लाख कोशिश करने के बाद भी इंसान नहीं लगा पता| आज हम एक ऐसी ही घटना के बारे में बात करेंगे|

हम बात कर रहे हैं, केरला भारत में हुई लाल रंग की बारिश के बारे में| जिसे केरल में खून की बारिश के नाम से भी जाना जाता है

In this article we will discuss in detail the event of Red Rain in Kerala in hindi that occurred in 2001. This Mysterious Event also known as Blood Rain in Kerala

History of  Red Rain in Kerala in Hindi :

 

red rain in kerala - blood rain in kerala

ये किस्सा है 25 जुलाई 2001 का, केरल में अचानक से बहुत तेज़ हवायें चलने लगती है| तेज़ हवाओं के साथ बादलों में बिजली की दिल दहलाने वाली आवाज़, कुछ बड़ी अनहोनी होने की आशंका|

अचानक से बादलों की तेज़ गडगडाहट के साथ मुसलाधार बारिश का कहर| लेकिन केरल के लोग जब बारिश के पानी का रंग देखते हैं तो उनकी आंखें फटी की फटी रह जाती हैं| ऐसा क्या था पानी के रंग में|

पानी का रंग बिलकुल खून की तरह लाल था| और हेरान करने वाली बात यह थी, की यह बारिश का लाल रंग का पानी कपड़ों पर खून की तरह पीले दाग भी छोड रहा था|

यह बारिश केरल के दो जिलों कोट्टयम (Kottayam) और  इदुक्की (Idukki) में देखने को मिली थी| ये दोनों जिले केरल के दक्षिण हिस्से में पड़ते हैं|

सुनने में आया था की केरल के कई इलाकों में काले, हरे और पीले रंग की भी बारिश हुई है|

कुछ लोगों का ये भी कहना है, इस तरह की लाल रंग की बारिश केरला में 1896 में भी हुई थी| उसके बाद 2001 में 25 जुलाई से 23 सितम्बर तक इसी तरह की बारिश देखने को मिली| और अभी हाल फिलहाल जून 2012 में भी ऐसा ही कुछ केरल में देखने को मिला|

श्री लंका के पूरब और उत्तर के कुछ क्षेत्रों में भी 15 नवम्बर से 27 दिसम्बर तक इसी तरह की लाल रंग की बारिश का अधवुत नज़ारा देखने को मिला था|

Reason of Red rain in kerala – क्या था कारण इस लाल रंग की बारिश का :-

red rain in kerala - blood rain in kerala

2001 में बारिश के पानी के सेम्पल  Centre for Earth Science Studies (CESS) के पास भेजे गए| प्रारंभिक रिपोर्ट में ये बताया गया की ये एक उल्का पिंड के फटने की वजह से हुआ है| उल्का पिंड के मलवे ने बारिश के पानी का रंग लाल कर दिया है| हालाँकि बाद में CESS की ये थ्योरी झूंठ साबित हुई|

इसके बाद बारिश के पानी के सैंपल,  Tropical Botanical Garden and Research Institute (TBGRI) को भेजे गए| वहां ये पता लगा इसका कारण एक प्रकार का शेवाल (alga) है, इस शेवाल की छोड़ी हुई काई (lichen) और जीवाणुओं (spores) से ही इस बारिश का पानी लाल हुआ है|

अब प्रश्न उठता है, ये शेवाल बादलों में पंहुचा कैसे| दोस्तों इंसान इसकी भी अपनी कोई थ्योरी निकाल देगा| लेकिन दोस्तों ये सभी अनुमान ही हैं| क्या ठोस कारण थे| ये अभी तक रहस्य ही है|

ज्यादा जानकारी के लिए आप wikipedia से जानकारी ले सकते हैं

 

दोस्तो, आपको ये आर्टिकल ( Red Rain in kerala in Hindi ) कैसा लगा| अगर आपको इस आर्टिकल में कोई त्रुटी नज़र आई हो तो हमें कमेंट में अवगत करायें| आप चाहें तो हमें [email protected] main मेल kar sakte hain|

आपके सुझाब ही viralfactsindia.com की सफलता की कुंजी है|

 

ये भी पढें :-

समुद्री लुटेरे एक आँख में क्यों बांधते हैं पट्टी क्या आप जानते हैं

13 सेलिब्रिटीज जिन्होंने कराया है अपने शरीर के अंगों का इश्योरेंस

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here