14 Famous Guru Vandana shlokas | Guru Vandana in Sanskrit |

0
234
Guru vandana shlokas in sanskrit

Guru Vandana shlokas | Guru Vandana Sanskrit slokas with meaning in hindi and english | गुरु वंदना श्लोक अर्थ सहित

Guru Vandana in Sanskrit

गुरुर्ब्रह्मा गुरुर्विष्णु गुरुर्देवो महेश्वरः गुरुर्देव परंब्रह्मः तस्मै श्री गुरवे नमः।
अज्ञानतिमिरांधस्य ज्ञानांजनशलाकया चक्षुरौन्मीलितं येन तस्मै श्री गुरवे नमः।
अखण्डमण्डलाकारं व्याप्तं येन चराचरं तदपदं दर्शितं येन तस्मै श्री गुरवे नमः।
अनेकजन्म संप्राप्तं कर्मबन्ध विदाहिने आत्मज्ञानप्रदानेन तस्मै श्री गुरवे नमः।
मन्नाथः श्री जगन्नाथा मदगुरु श्री जगदगुरु मदात्मा सर्वभूतात्मा तस्मै श्री गुरवे नमः।

Guru Vandana Shlokas in Sanskrit with meaning in Hindi:-

त्सर्वश्रुतिशिरोरत्नविराजित पदाम्बुजः ।
वेदान्ताम्बुजसूर्योयः तस्मै श्रीगुरवे नमः ॥

उस महान गुरु के लिए अभिवादन, जिसके कमल रूपी चरण सभी श्रुतियों के शीर्ष गहने से प्रकाशित है| और आप ही सूर्य है जिसके कारण वेदांत रुपी कमल ज्ञान खिलता है|

Salutation to the noble Guru, whose lotus feet are radient with (the luster of) the crest jewel of all Srutis and who is the sun that causes the Vendanta Lotus (knowledge) to bloosom.

चिन्मयं व्यापियत्सर्वं त्रैलोक्यं सचराचरम् ।
तत्पदं दर्शितं येन तस्मै श्रीगुरवे नमः ॥

उस महान गुरु को मेरा नमस्कार , जिसने ये संभव किया की उसे साक्षात्कार हो उस ब्रह्म का जो सबमे व्यापत है
तीनो दुनिया में संवेदनशील और असंवेदनशील, तीन दुनिया में|

Salutation to the noble Guru, who has made it possible to realise Him pervades everything, sentient and insentient, in all three worlds.

चैतन्यः शाश्वतःशान्तो व्योमातीतो निरंजनः ।
बिन्दुनाद कलातीतः तस्मै श्रीगुरवे नमः ॥

उस महान गुरु को नमस्कार, जो हमेशा दीप्तिमान है, शाश्वत, आत्मा से शांतिपूर्ण, अन्तराल से परे, बेदाग, और प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष से परे है.

Salutation to the noble Guru, who is the ever effulgent, eternal, peaceful, beyond space, immaculate, and beyond the manifest and unmanifest.

स्थावरं जंगमं व्याप्तं यत्किंचित्सचराचरम् ।
तत्पदं दर्शितं येन तस्मै श्रीगुरवे नमः ॥

उस महान गुरु को नमस्कार, जिसने ये संभव किया की उसे एहसास हो की, किसके द्वारा संवेदनशील और असंवेदनशील, जो व्याप्त है चल और अचल यह सब है|

Salutation to the noble Guru, who has made it possible to realize Him, by whom all that is – sentient and insentient, movable and immovable is pervaded.

ज्ञानशक्तिसमारूढः तत्त्वमालाविभूषितः ।
भुक्तिमुक्तिप्रदाता च तस्मै श्रीगुरवे नमः ॥

उस महान गुरु के लिए मेरा नमस्कार, जिसने ज्ञान की शक्ति को स्थापित किया, जो पुष्पहार से सजी हैजो जीवन के विभिन्न सिद्धांत और समृद्धि
और मुक्ति देने वाली है.

Salutation to that noble Guru, who is established in the power of knowledge,
adorned with the garland of various principles and is the power of prosperity and liberation.

गुरुर्ब्रह्मा गुरुर्विष्णुः गुरुर्देवो महेश्वरः ।
गुरुरेव परंब्रह्म तस्मै श्रीगुरवे नमः ॥

उस महान गुरु को अभिवादन, जो ब्रम्हा है, विष्णु और महेश है, प्रत्यक्ष परब्रम्ह, परमसत्य है.

Salutation to the noble Guru, who is Brahma, Vishnu and Maheswara, the direct Parabrahma, the Supreme Reality.

अनेकजन्मसंप्राप्त कर्मबन्धविदाहिने ।
आत्मज्ञानप्रदानेन तस्मै श्रीगुरवे नमः ॥

उस महान गुरु को नमस्कार, जो असंख्य जन्मों के कर्मों से बने बंधनों को स्वयं जलाने का आत्मज्ञान दान दे रहा है.

Salutation to the noble Guru, who by bestowing the knowledge of the Self burns up the bondage created by accumulated actions of innumerable births.

ज्ञानतिमिरान्धस्य ज्ञानाञ्जनशलाकया ।
चक्षुरुन्मीलितं येन तस्मै श्रीगुरवे नमः ॥

उस महान गुरु को मेरा नमस्कार, जिसने अज्ञान के अंधकार से अंधी हुई आँखों को ज्ञान की काजल-तीली से खोल दिया.

Salutation to the noble Guru, who has opened the eyes blinded by the darkness of ignorance with the collyrium-stick of knowledge.

शोषणं भवसिन्धोश्च ज्ञापणं सारसंपदः ।
गुरोः पादोदकं सम्यक् तस्मै श्रीगुरवे नमः ॥

उस महान गुरु को मेरा अभिवादन, जिसके चरण धोने से, में आवागमन के भवचक्र, जो अंतहीन दुखों से भरा हुआ है, सूख गया और परम सपत्ति प्रकट हो गयी है|

Salutation to the noble Guru, by washing whose feet, the ocean of transmigration, endless sorrows is completely dried up and the Supreme wealth is revealed.

अखण्डमण्डलाकारं व्याप्तं येन चराचरम् ।
तत्पदं दर्शितं येन तस्मै श्रीगुरवे नमः ॥

उस महान गुरु को मेरा प्रणाम, जिसने उस अवस्था का साक्षात्कार करना संभव किया जो पूरे ब्रम्हांड में व्याप्त है, सभी जीवित और मृत में.

Salutation to the noble Guru, who has made it possible to realize the state which pervades the entire cosmos, everything animate and inanimate.

न गुरोरधिकं तत्त्वं न गुरोरधिकं तपः ।
तत्त्वज्ञानात्परं नास्ति तस्मै श्रीगुरवे नमः ॥

उस महान गुरु को मेरा झुक कर प्रणाम, जिसके परे कोई परम सत्य नहीं है, कोई उच्च तपस्या और सच्चे ज्ञान से परे कुछ भी प्राप्त करने योग्य नहीं है.

Salutation to the noble Guru, beyond whom there is no higher truth, there is no higher penance and there is nothing higher attainable than the true knowledge.

त्वमेव माता च पिता त्वमेव, त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव ।
त्वमेव विद्या द्रविणं त्वमेव, त्वमेव सर्वं मम देव देव ॥

(हे गुरुदेव) आप मेरे माता और पिता के समान है; आप मेरे भाई और साथी है; आप ही अकेले ज्ञान और धन है. प्रभु, आप सब कुछ हैं|

(Oh Guru!) You are my mother and father; you are my brother and companion, you alone are knowledge and wealth. O Lord, you are everything to me.

मन्नाथः श्रीजगन्नाथः मद्गुरुः श्रीजगद्गुरुः ।
मदात्मा सर्वभूतात्मा तस्मै श्रीगुरवे नमः ॥

उस महान गुरु को गुरु को मेरा सादर प्रणाम, जो मेरा इश्वर और पुरे ब्रम्हांड का इश्वर है, मेरा गुरु और पुरे ब्रम्हांड का गुरु है, जो मेरे अन्दर और सभी चेतन में व्याप्त है.

Salutation to the noble Guru, who is my Lord and the Lord of the Universe, my Teacher and the Teacher of the Universe, who is the Self in me and the Self in all beings.

गुरुरादिरनादिश्च गुरुः परमदैवतम् ।
गुरोः परतरं नास्ति तस्मै श्रीगुरवे नमः ॥

उस महान गुरु के लिए अभिवादन, जो आदि और अनंत है, जो परम देव है और उससे उच्च कोई नहीं है.

Salutation to the noble Guru, who is both the beginning and beginningless, who is the Supreme Deity than whom there is none superior.

दोस्तो आपको गुरु वंदना श्लोक (Guru Vandana Shlokas) और गुरु महिमा श्लोक (guru vandana shlokas in sankrit) जरुर पसंद आये होगे| निश्चित ही सच्चे गुरु का सानिध्य आपके जीवन में परिवर्तन लाएगा|

 

यह भी पढें:-

Sanskrit slokas on Guru with meaning in Hindi | गुरु पर संस्कृत श्लोक

जामुन फल के 22 रोचक तथ्य जानकर हो जाएंगे हेरान | Interesting facts of Jamun in Hindi

भगवद्गीता संस्कृत श्लोक जो बदल देंगे आपके जीवन जीने का तरीका

18 Fuel Saving Tips in Hindi | पेट्रोल डीजल बचाने के 18 तरीके

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here