गंगा की सहायक नदियों की सम्पूर्ण जानकारी | Ganga River Tributaries in Hindi

गंगा नदी की सहायक नदियों के नाम सम्पूर्ण जानकारी और इतिहास | Ganga River Tributaries (Distributaries Name and Complete information history in Hindi

गंगा नदी को हिन्दू समाज जीवन दायनी माँ के रूप में पूजता हैं| गंगा, उत्तराखंड के गंगोत्री धाम से निकलती है और पश्चिम भारत में बंगाल की खाड़ी में समाहित हो जाती है|

गंगा उत्तर और पश्चिम भारत के बड़े भू भाग को पानी उपलव्ध कराती है| लेकिन दोस्तो, गंगा की धारा में उत्तर और पश्चिम भारत के अलग अलग क्षेत्रों से और छोटी बड़ी नदियों का पानी मिलता है|

आज हम गंगा की इन्ही सहायक नदियों की सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध कराने वाले हैं|

लेकिन इससे पहले संछिप्त में गंगा कहाँ से निकलती हैं इसके बारे में चर्चा कर लेते हैं|

गंगा की सहायक नदियों की सम्पूर्ण जानकारी

Ganga River Tributaries Complete information in hindi

गंगा उत्तराखंड के गंगोत्री धाम से 19 किलोमीटर दूर गंगोत्री ग्लेशियर में स्तिथ गोमुख से निकलती है| गंगा की इस पहली धारा को भागीरथी बोला जाता है|

लेकिन भागीरथी की धारा उत्तराखंड के कुमायूं में स्तिथ देवप्रयाग में अलकनंदा की एक बड़ी धारा से मिलती है| अलकनंदा पांच छोटी छोटी धाराओं से मिलकर बनती हैं|

यह धाराएं हैं,

  1. अलकनंदा
  2. धौलीगंगा
  3. नंदाकिनी
  4. पिंडर
  5. मन्दाकिनीं

ये धाराएं अलग स्थानों पर अलकनंदा की धरा से मिलती हैं और एक बड़ी धारा अलकनंदा बनती हैं| अलकनंदा देवप्रयाग स्थान पर भागीरथी की धारा से मिलती है|

देवप्रयाग से ही इस बड़ी धारा को गंगा कहा जाता है|

अधिक जानकारी के लिए आप हमारा यह आर्टिकल पढ़ लें – Ganga Complete history information in hindi

देवप्रयाग के बाद जितनी भी छोटी बड़ी नदियाँ गंगा में मिलती हैं, सहायक नदियाँ कहलाती है| कुछ लोग अलकनंदा को भी गंगा की सहायक नदियाँ कहते हैं लेकिन ऐसा नहीं है|

सहायक नदियाँ क्या होती हैं

सहायक नदियाँ वो नदियाँ होती है, जो एक बड़ी नदी की जल धारा में एक विशेष स्थान पर मिलती है और बड़ी नदी में जल की आपूर्ति को पूरा करती हैं|

जैसे प्रयागराज में यमुना, गंगा से मिलती है, इसलिए यमुना को गंगा की सहायक नदी कहा जाएगा|

आइये एक एक करके गंगा की सहायक नदियों की चर्चा करते हैं|

गंगा की सहायक नदियों के नाम

गंगा के बायें किनारे और दाहिने किनारे, दोनों किनारों पर आकर कई सहायक नदियाँ मिलती हैं| इन सहायक नदियों को अंग्रेजी में Left Bank Ganga River Tributaries और Right Bank Ganga River Tributaries के नाम से जाना जाता है|

Left Bank Ganga Tributaries:-

Ramganga, Gomti, Ghaghara (karnali, saryu), Gandak, KOsi (saptkosi), Mahananda

Right Bank Ganga Tributaries:-

Yamun, Tamsa, Son and Pundun

यमुना नदी

यमुना नदी यमनोत्री ग्लेशियर से निकलती है और घाघरा नदी के बाद, गंगा की सबसे बड़ी सहायक नदी है, यमुना की भी अपने कई सहयक नदियाँ हैं, जैसे चम्बल, बेतवा, सिंध|

ये तीन नदियाँ यमुना की सहायक नदियाँ हैं इनके बारे में ज्यादा जानकारी के लिए यह आर्टिकल पढ़ लें

यमुना नदी का इतिहास और इसकी सहायक नदियाँ

गोमती नदी

गोमती नदी, गंगा की एक सहायक नदी है| यह नदी पीलीभीत उत्तरप्रदेश के पास स्तिथ गोमत ताल से निकलती है| गोमत ताल को फुलहार झील भी बोला जाता है|

यह नदी सामान्यतः एक बरसाती नदी है| बरसात के अलावा जमीन के भीतर से भी पानी इस नदी में आता है|
गोमत ताल से एक छोटी धरा के रूप में यह नदी निकलती है|

गोमती नदी की भी अपनी कई सहायक नदियाँ हैं जैसे गौहाई, सुखेता, छोहा, आन्ध्र छोहा मिलती हैं|
इस नदी की लम्बाई करीब 600 किलोमीटर है|

कई बड़े शहर जैसे लखनऊ, लखीमपुर खेरी, सुल्तानपुर केराकत और जौनपुर स्तिथ हैं| अंत में वाराणसी जिले के सैदपुर के निकट कैथी नामक स्थान पर गोमती, गंगा में समाहित हो जाती है|

यह जगह गोमती गंगा संगम के नाम से जानी जाती है|

इस स्थान पर भगवान् शिव का प्रसिद्द मार्कंडेय महादेव मंदिर स्तिथ है| माना जाता है इस मंदिर में प्रार्थना से पुत्र की प्राप्ति होती है|

ज्यादा जानकारी के लिए यह आर्टिकल पढ़ लें – गोमती नदी का इतिहास और सम्पूर्ण जानकारी

घाघरा नदी

घाघरा नदी को कर्नाली के नाम से भी जाना जाता है| यह तिब्बत में मानसरोवर झील के पास से निकलती है| इसका श्रोत
Mapchachungo Glacier है|

यह नेपाल से होती हुई ब्रह्मघाट पर शारदा नदी से मिलती है| यह दोनों नदियाँ मिलकर, घाघरा नदी कहलाती है|
यह नेपाल की सबसे बड़ी नदी है|

यह गंगा में सबसे ज्यादा पानी छोड़ने वाली सहायक नदी है और यमुना के बाद सबसे लम्बी गंगा की सहायक नदी मानी जाती है|

1080 किलोमीटर की यात्रा तय करने के बाद यह रावलगंज बिहार में गंगा में मिल जाती है

जानकारों के अनुसार कई स्थानों पर जैसे अयोध्या घाघरा नदी को ही सरयू नदी के नाम से जाना जाता है|

गंडक नदी

गंडकी नदी को नारायणी और गंडक भी कहा जाता है| यह नेपाल की प्रमुख नदियों में से है| इसका श्रोत Nhubine Himal Glacier है| यह ग्लेशियर नेपाल के मुस्तांग जगह पर स्तिथ है|

यह उत्तर प्रदेश से होते हुए पटना के पास गंगा में मिल जाती है|नेपाल का चितवन नेशनल पार्क गंडक नदी के किनारे स्तिथ है|

कोसी (सप्तकोसी)

कोसी नदी तिब्बत क्षेत्र में स्तिथ हिमालय से निकलती है| कोसी नदी को सप्तकोसी के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि यह हिमालय से निकलने वाली साथ धाराओं से बनती है|

यह धारायीं है तमोर नदी (Tamor River) जो कंचनजंगा से निकलती है| अरुण नदी और सुन कोसी नदी|

आगे सुन कोसी नदी की भी सहायक नदियाँ है जैसे दूध कोसी (Dudh Koshi), भोटे कोसी (Bhote Koshi), तामाकोशी नदी (Tamakoshi River), लिखू खोला (Likhu Khola) और इन्द्रावती (Indravati).

नेपाल और बिहार के कई जिलों से होते हुए बिहार के कटिहार जिले के कुर्सेला क्षेत्र में यह गंगा में मिल जाती है|

महानंदा नदी

महानंदा नदी दार्जीलिंग जिले के कुर्सेओंग क्षेत्र में स्तिथ महल्दिराम पहाड़ियों के पगलाझोरा झरने से निकलती है| यह स्थान हिमालय में स्तिथ है|

यह नदी महानंदा वाइल्डलाइफ सैंक्चुअरी से होते हुए सिलिगुरी पहुँचती है|

इसके बाद यह बांग्लादेश में प्रवेश करती है करीब 3 किलोमीटर बहने के बाद यह वापस भारत में प्रवेश करती है| यह बिहार के किशनगंग और कटिहार जिले से होते हुए पश्चिम बंगाल के जिले मालदा तक पहुंचती है|

अंत में बांग्लादेश के जिले नवाबगंज में यह गंगा में मिल जाती है|

रामगंगा नदी

रामगंगा उत्तराखंड के पोड़ी गढ़वाल जिले में स्तिथ दुधाटोली पहाड़ियों से निकलती है| इस नदी की लम्बाई करीब 155 KM है|

नैनीताल जिले के रामनगर कस्बे से होते हुए उत्तर प्रदेश के फतेहगढ़ जिले कनौज क्षेत्र में यह गंगा में समाहित हो जाती है|

तमसा नदी

तमसा नदी कैमूर पहाड़ियों में स्तिथ तमाकुंड से निकलती है| यह मध्य प्रदेश के सतना और रेवा जिले से होते हुए उत्तरप्रदेश के सिरसा जिले में गंगा में समाहित हो जाती है|

सोन नदी

सोन नदी मध्य प्रदेश के अनुप्पुर जिले के अमरकंटक स्थान से निकलती है| उत्तर प्रदेश और झारखण्ड के कई जिलों से होते हुए बिहार में पटना से पश्चिम की और गंगा में समाहित हो जाती है|

Share your love
Default image
Viral Facts India
Articles: 330

Leave a Reply

close