FootBall Rules in Hindi | FootBall History in Hindi | Football offside rule hindi

0
442
football rules history hindi

How to Play Football rules in Hindi | History of FootBall in Hindi | Off side football rules in Hindi

फुटबॉल दुनिया का सबसे मशहूर खेल है और करीब 222 देशों में यह खेला जाता हैं| इस खेल के दीवाने खासकर यूरोप में बहुत है| ब्राजील स्पेन फ़्रांस, अर्जेंटीना जैसे युरोप के देशों में तो लोग हद से ज्यादा इस खेल के मुरीद हैं|

दोस्तो, शरुआत में ही हम आपको बता दें यहाँ बात की जा रही है, एसोसिएशन फुटबॉल (Association Football) की|

फुटबॉल कई फॉर्मेट में खेला जाता है जैसे ग्रिडिरॉन फुटबॉल (American Football), रग्बी फुटबॉल (Rugby Football) etc.

भारत में जिस फॉर्मेट में फुटबॉल खेला जाता है वो है ‘एसोसिएशन फुटबॉल’ जिसे सरल शब्दों में फुटबॉल भी बोला जाता है| अमेरिकन फूटबाल और रग्बी फुटबॉल को अमेरिका में ही ज्यादातर खेला जाता है|

निचे दिए गए चित्रों से आप बेहतर समझ पाएंगे|

Football Rules in Hindi

How to play football in Hindi

how to play football rules hindi history

ऊपर दिए गए चित्र में खिलाडी फुटबॉल खेल रहे हैं जिसे ‘एसोसिएशन ऑफ़ फुटबॉल’ के नाम से भी जाना जाता है| यह फॉर्मेट सबसे ज्यादा पोपुलर है|

how to play football rules hindi history

ऊपर दिए गए चित्र में खिलाडी रग्बी (Rugby) फुटबॉल खेल रहे हैं| यह फुटबॉल खेल का ही एक रूप है|

how to play football rules hindi

ऊपर दिए गए चित्र में खिलाडी अमेरिकन फुटबॉल खेल रहे हैं| इस खेल को ग्रिडरोन (gridiron) फुटबॉल के नाम से भी जाना जाता है|

दोस्तो यह आर्टिकल सिर्फ ‘एसोसिएशन ऑफ़ फुटबॉल’ जिसे सिर्फ फुटबॉल भी कहते है, के तथ्यों तक ही सिमित रहेगा| सबसे पहले बात करते हैं फुटबॉल के इतिहास के बारे में

History of Football in Hindi ( फुटबॉल का इतिहास ) :-

FIFA(“Federation of International Football Association”) के अनुसार फुटबॉल जैसा खेल सुजु ‘cuju’ पुराने समय में हान साम्राज्य ( Han Dynasy) चीन में खेला जाता था|

cuju game china

cuju खेल में खिलाडी अपने हाथों को छोड कर शरीर के किसी भी अंग को प्रयोग कर सकता था| Han Dynasty (206 BC – 220 AD) में इस खेल के नियमों को standardized (मानकीकरण) कर दिया गया|

पुराने समय में ग्रीक में Phaininda, episkyros जैसे बॉल खेल खेले जाते थे| लेकिन इन सभी खेलों में हाथों का
प्रयोग किया जाता था|

फुटबॉल जैसा खेल ‘harpastum’ रोमन में भी खेला जाता था| ऐसा ही एक खेल केमरी (kemari) जापान
में चुक-गुक (chuk-guk) कोरिया में वोग्गावलिरी (woggabaliri) ऑस्ट्रेलिया में खेला जाता था|

पुराने समय में कई देशों में फुटबॉल जैसे खेल खेले जाते थे| लेकिन किसी भी खेल के नियम युरोपे में खेले जाने बाले एसोसिएशन फुटबॉल जैसे नहीं थे|

FIFA के अनुसार एसोसिएशन फुटबॉल का किसी भी पुराने खेल से कोई संबंध नहीं है|

फुटबॉल का इंग्लैंड में इतिहास:-

फुटबॉल का इतिहास इंग्लैंड में 8वीं शताव्दी पुराना है| इंग्लैंड के प्राइवेट विद्यालयों में फुटबॉल खेल जाता था| लेकिन फुटबॉल खेलने के नियन सभी विद्यालयों में एक जैसे नहीं थे|

फुटबॉल के लिए सबसे पहले नियम 1848 में कैंब्रिज विश्वविद्यालय में बनाये गए और इन्हें कैंब्रिज नियम बोला गया| लेकिन इन नियमों को सभी फुटबॉल कल्ब्स ने नहीं माना|

1863 में ‘The Football Association’ की स्थापना की गई| 26 अक्टूबर 1863 को लन्दन में हुई एक मीटिंग में प्रथम बार विस्तार से फुटबॉल खेलने के नियम बनाये गए|

सबसे पुरानी फुटबॉल प्रतियोगिता ‘FA Cup’ है| इस प्रतियोगिता की स्थापना C.W Alcock ने की थी| प्रथम आधिकारिक अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल मैच 1872 में स्कॉटलैंड और इंग्लैंड के बीच ग्लासगो में खेला गया|

फुटबॉल लीग की स्थापना भी इंग्लैंड में 1888 में बिर्मिंघम में की गई|

1886 में ‘International Football Association Board’ की स्थापना की गई| इसी संस्था ने एसोसिएशन फुटबॉल
के लिए ‘Laws of the Game’ जो की FA संस्था ने बनाये थे आधिकारिक रूप से मान लिए गए|

1904 पेरिस में FIFA (Fedreation of Internation Football Association) का गठन किया गया| इस संस्था ने
फुटबॉल एसोसिएशन के द्वारा बनाये गए फुटबॉल के नियमों को अपना लिया|

FIFA वर्ल्ड कप के वारे में तो आपने सुना ही होगा| यह इसी संस्था के द्वारा संचालित किया जाता है|

आज फुटबॉल पूरे विश्व में खेला जाता है| FIFA की 2001 में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार फुटबॉल टीवी पर देखा जाने वाला सबसे लोकप्रिय खेल है| पूरे विश्व में इस खेल को 200 देशों में 240 मिलियन लोगों द्वारा खेला जाता है|

फुटबॉल खेल का फॉर्मेट:-

फुटबॉल खेलने के नियम “Laws of the Game Rules” में विस्तार से लिखे हुए हैं| अभी हाल फिलहाल 17 नियम हैं| इन्ही नियमों के आधार पर एसोसिएशन ऑफ़ फुटबॉल को खेला जाता है|

Football Rules in Hindi:-

नियम इस प्रकार हैं|

Law 1: The Field of Play (फुटबॉल खेलने का क्षेत्र का आकार)
Law 2: The Ball (बॉल का आकार)
Law 3: The Players (खिलाडी)
Law 4: The Players’ Equipment (खिलाडियों की   पोशाक और अन्य उपकरण)
Law 5: The Referee ( रेफ़री )
Law 6: The Other Match Officials (मैच में उपस्थित अन्य लोग)
Law 7: The Duration of the Match (मैच खेलने का समय)
Law 8: The start and restart of play (खेल   को शुरू और दुवारा से शुरू करने के नियम)
Law 9: Ball in and out of play (बॉल के खेल अन्दर और बाहर होने के नियम)
Law 10: Determining the outcome of the match (खेल का परिणाम जानने के नियम)
Law 11: Offside (ऑफ़साइड नियम)
Law 12: Fouls and Misconduct (फौल्स और दुर्व्यवहार के नियम)
Law 13: Free kicks (direct and indirect) (फ्री किक्स डायरेक्ट और इनडायरेक्ट)
Law 14: The Penalty Kick (पेनल्टी किक)
Law 15: The Throw-in (थ्रो इन)
Law 16: The Goal Kick (गोल किक)
Law 17: The Corner Kick (कार्नर किक)

आइये एक एक करके इन नियमों को समझते हैं|

Law 1: The Field of Play (फुटबॉल खेलने के क्षेत्र का आकार) :-

football pitch Measurements

ऊपर दिए हुए चित्र के अनुसार अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल पिच की लम्बाई 110 मीटर और चोड़ाई 64 मीटर होनी चाहिए| और लाइनों की मोटाई करीब 12 सेंटीमीटर होनी चाहिए|

पिच की लम्बाई और चोड़ाई:-

लम्बी लाइन को टच लाइन और साइड लाइन कहा जाता है और चोड़ाई वाली लाइन को goal लाइन| पिच के चरों कोनों पर कार्नर आर्क बने होते हैं| और इनमें हर एक कोने पर फ्लैग लगा होता है|

Goal पोस्ट की लम्बाई और चोड़ाई:-

अब बात करते हैं गोल पोस्ट की जिसके अन्दर विरोधी खिलाडी गोल दागते हैं| इस गोल पोस्ट की ऊंचाई करीब 2.14 मीटर और चोड़ाई करीब 7.32 मीटर होनी चाहिए

goal एरिया:-

goal पोस्ट के आगे का आयताकार (rectangle) क्षेत्र goal एरिया कहलाता है| इसकी लम्बाई 18.32 मीटर और चोड़ाई 5.5 मीटर होती है|

पेनल्टी एरिया:-

goal एरिया के बहार का आयताकार (Rectangle) भाग पेनल्टी एरिया कहलाता है| इसकी लम्बाई करीब 16.5 मीटर और चोड़ाई 40.32 मीटर होती है|

पेनल्टी एरिया में ही एक सफ़ेद रंग का पेनल्टी मार्क लगा होता है| जो goal पोस्ट से 11 मीटर की दूरी पर होता है| इसी
जगह से पेनल्टी किक लगाये जाते हैं|

पेनल्टी आर्क:-

पेनल्टी मार्क से 9.15 मीटर की दूरी पर पेनल्टी एरिया के बाहरी किनारे पर पेनल्टी अर्क बनाया जाता है| चित्र में देखकर आप समझ सकते हैं|

सेंटर सर्किल:-

सेंटर मार्क से 9.10 मीटर की दूरी पर सेंटर सर्किल बनाया जाता है| बाकि चीजे आप ऊपर दिए गए चित्र में देखकर समझ सकते है|

जब खेल शुरू होता है उस समय एक टीम को बॉल दी जाती है किक मारने के लिए| उस समय बॉल को सेंटर पॉइंट पर रखा जाता है तो इस सर्किल के अन्दर सिर्फ उसी टीम के सदस्य खड़े हो सकते हैं जिनके पास बॉल है|

विरोधी टीम के सदस्यों को इस 9.15 मीटर के घेरे से बहार खड़ा होना होता है|

Law 2: The Ball (बॉल का आकार):-

फुटबॉल का वजन करीब 410 से 450 ग्राम होना चाहिए| और इसमें हवा .6 से 1.1 स्टैण्डर्ड atmosphere sea level पे भारी जानी चाहिए|

फुटबॉल का आकर करीब 22 cm diameter होना चाहिए और इसकी परिधि(circumference) करीब 68 to 70 सेंटीमीटर|

Law 3: The Players (खिलाडी) :-

एसोसिएशन फुटबॉल में 2 टीमें होती है| प्रत्येक टीम में 11 खिलाडी होते है गोलकीपर को शामिल करके| कम्पटीशन rules के अनुसार किसी भी टीम में मैदान पर बने रहने के लिए कम से कम 7 खिलाडी तो होने ही चाहिए|

गोलकीपर ही एक ऐसा खिलाडी है जो अपने हाथों से बॉल को खेल सकता है लेकिन सिर्फ अपने पेनल्टी एरिया के अन्दर|

Law 4: The Players’ Equipment (खिलाडियों की   पोशाक और अन्य उपकरण):-

अगर हम इक्विपमेंट और किट की बात करें खिलाडी के पास एक शर्ट, निक्कर, जुर्राब(socks) जूते और शिन गार्ड(यह पैर के घुटनों के आगे वाले हिस्से  में जुराबों के निचे पहना जाता है) और एक प्रोटेक्टिव कप होना चाहिए|

वैसे हेड गियर compulsary नहीं है लेकिन आज कल कुछ प्लेयर इसे लगाते हेड injury से बचने के लिए| खिलाडी ऐसी कोई बस्तु अपने पास नहीं रख सकते जिससे दुसरे खिलाडी को चोट लग सके जैसे घडी, ज्वेलरी etc|

Law 5 & Law 6 The Referee ( रेफ़री ), The Other Match Officials (मैच में उपस्थित अन्य लोग):-:-

फुटबॉल मैच में 1 में रेफ़री और 2 सहायक रेफ़री होते हैं जो टच लाइन के साथ में खड़े होते है| सहायक रेफ़री, बड़े रेफ़री को निर्णय लेने में हेल्प करते हैं लेकिन आखिरी निर्णय बड़े रेफ़री का ही होता है|

रेफ़री का काम खेल की फील्ड पर ‘Laws of the Game’ को सुचारू रूप से बनाये रखना है| रेफ़री खेल को रोक सकता है, किसी भी खिलाडी को गलती करने पर खेल के मैदान से हटा सकता है इत्यादि|

Main रेफ़री को ऊपर एक 4th रेफ़री भी होता है जो main रेफ़री को supervising और तकनीकी क्षेत्रों में मदद करता हैं| उसके अलावा विडियो फुटेज रेफ़री भी होता है|

Law 7: The Duration of the Match (मैच खेलने का समय):-

फुटबॉल मैच टोटल 90 मिनट्स का होता है| पहला चरण 45 मिनट का होता है| बीच में 15 मिनट के ब्रेक के बाद दुसरे 45 मिनट का खेल खेला जाता है| मैच जब ख़त्म हो जाता है उसे ‘फुल टाइम’ कहते हैं|

ऑफिसियल रेफ़री टाइम का हिसाब रखता है| बीच में किसी कारण से जैसी किसी खिलाडी की  injury और आउटसाइड interference की वजह से अगर टाइम का नुकसान होता है तो टाइम को बढाया जा सकता है|

Law 8: The start and restart of play (खेल   को शुरू और दुवारा से शुरू करने के नियम):-

यह इस खेल का 8th नियम हैं| यह नियम फुटबॉल खेल के स्टार्ट और रिस्टार्ट करने से सम्बंधित है| इस नियम में दो term प्रयोग की जाती है| ‘Kick-Off और ‘Dropped ball’ आइये इन दोनों के बारे में बात करते हैं|

Kick-Off:-
फुटबॉल के खेल को स्टार्ट करने और रीस्टार्ट कने के नियम को ‘Kick-Off कहते हैं| जैसा की पहले बताया था खेल को 45 मिनट के हाफ में खेला जाता है|

पहले 45 मिनट और बाद के 45 मिनट के हाफ और एक्स्ट्रा टाइम के खेल को शुरू करने की process को kick-Off
कहते हैं|

अब सवाल उठता है kick-off करेगा कोन| खेल को शुरू करने से पहले coin टॉस किया जाता है| टॉस जितने वाली टीम को goal साइड चयन करने का अधिकार होता है|

कहने का मतलब है टॉस जितने वाली टीम दोनों goal में से लेफ्ट या right कोइसी भी साइड चयन कर सकती है |
टॉस हारने वाली टीम को kick-off करने का अधिकार होता है|

kick-off स्टार्ट करने के लिए रेफ़री सिटी बजाता है| दुसरे 45 मिनट के खेल को शुरू करने के kick-off का अधिकार दूसरी टीम को होता है| लेकिन एक्स्ट्रा टाइम के खेल को शुरू करने के लिए दुवारा से coin टॉस किया जाता है|

जब कोई (A) टीम दूसरी टीम (B)के गोल में गोल कर देती है उसके बाद भी kick-off का प्रोसेस किया जाता है और इस बार kick-off का अधिकार B टीम को मिलता है|

kick-off को स्टार्ट करने का तरीका:-
kick-off को स्टार्ट करने के लिए फुटबॉल को मिडिल सर्किल के सेंटर पर रखा जाता है| और एक खिलाडी सर्किल के अन्दर रहता है और इस खिलाडी के टीम के मेम्बर फील्ड के अपने हाफ में होने चाहिए|

कहने का मतलब है जिस टीम के पास kick off है इस टीम का एक खिलाडी मिडिल सर्किल के अन्दर और बाकि खिलाडी सिर्फ अपने goal के हाफ में होने चाहिए| और विरोधी टीम के खिलाडी मिडिल सर्किल के बहार
खड़े हो सकते हैं|

Dropped-Ball:-

भी खेल स्टार्ट करने का तरीका है| लेकिन यह तरीका kick-off से अलग है| जब खेल किसी खिलाडी की सीरियस चोट और किसी बॉल के डिफेक्टिव होने की वजह से रोका जाय तो खेल को दुवारा से स्टार्ट करने के लिए यह नियम यूज़ किया जाता है|

इस तरीके में किसी भी टीम को बॉल नहीं दी जाती बल्कि खुद रेफ़री बॉल को खेल के मैदान में ड्राप करता है| बॉल को उसी जगह ड्राप किया जाता है जहाँ पर बॉल खेल रुकने से पहले थी|

यदि बॉल खेल रुकने से पहले goal एरिया में थी तो बॉल को रेफ़री के द्वारा goal एरिया लाइन पर ड्राप किया जाता है|

जैसे ही बॉल जमीन को टच करती है खेल स्टार्ट हो जाता है| इस नियम में कोई भी खिलाडी कहीं भी खड़ा हो सकता है|

Law 9: Ball in and out of play (बॉल के खेल अन्दर और बहार होने के नियम):-

In Play:-

इस खेल में प्रयोग में ली जाने वाली बॉल ‘In Play’ कहलाएगी यदि प्लेयर इस बॉल को खेल सकते हैं, इससे गोल कर सकते हैं, प्लेयर्स अगर कोई गलती करें तो रेफ़री उनको Punishment दे सके|

Out-Play:-

यदि बोल टच लाइन और goal लाइन को पार कर जाए या रेफ़री किसी वजह से खेल को रोक दे या कोई खिलाडी फ़ाउल(गलती) कर दे तो बोल आउट ऑफ़ प्ले मानी जाती है|

कहने का मतलब है जब बॉल आउट ऑफ़ प्ले होती है तो कोई भी प्लेयर इससे गोल नहीं कर सकता, अगर कोई प्लेयर इससे फ़ाउल करता है तो उसे punish नहीं किया जा सकता है|

जब बॉल आउट ऑफ़ प्ले हो जाती है तो निचे दिए गए तरीकों से उसे दुवारा से ‘In Play’ किया जाता है|
1. Kick-Off (किक-ऑफ):-
2. Throw-In (थ्रो-In):-
3. Goal-Kick (गोल-किक):-
4. Corner-Kick (कार्नर-किक):-
5. Indirect free Kick (इनडायरेक्ट फ्री किक):-
6. Direct Free Kick (डायरेक्ट-फ्री किक):-
7. Penalty Kick (पेनल्टी किक):-
8. Dropped-Ball (ड्रॉप्ड बॉल):-

किक off के बारे में हम ऊपर बता चुके हैं| बाकि टर्म्स के बारे में आगे बात करेंगे बने रहिये हमारे साथ|

Law 10: Determining the outcome of the match (खेल का परिणाम जानने के नियम):-

अगर A टीम B टीम के goal लाइन ,जो goal पोस्ट के दोनों आगे वाले पोल को जोडती है, से बॉल को पार करा दे तो goal माना जाता है| जो टीम जितने ज्यादा गोल कर देगी 90 मिनट के टाइम में विजेता मानी जाती है|

Off Side Rules in Hindi:-

Law 11: Offside (ऑफ़साइड नियम):-

off साइड सबसे ज्यादा पेचीदा नियम है| कभी कभी आपने देखा होगा यदि एक टीम दूसरी टीम के गोल पोस्ट में बनी गोल लाइन से बॉल को पार करा देती है तब भी गोल नहीं मन जाता|

सबसे पहले बात करते हैं इस नियम की जरुरत क्यों पड़ी| इसको समझने के लिए पहले आप निचे बनी हुई तस्वीर देख लें|

off side in hindi

अगर आप नील प्लेयर को देखें तो इन्होने अपना एक नीला प्लेयर विरोधी टीम के पेनल्टी एरिया में खड़ा कर दिया है| यदि arrow के द्वारा दिखाए गए 2 नील प्लेयर में से यदि एक प्लेयर दुसरे प्लेयर को बॉल डायरेक्टली पास करदे तो पेनल्टी एरिया में खड़ा हुआ खिलाडी आसानी से विरोधी टीम पर गोल दाग देगा|

ऐसी ही परिस्थिति से बचने के लिए off साइड नियम लाया गया जिससे टीम गोल करने के लिए मेहनत करे और खेल रोमांचक बन जाए|

आइये जानते हैं क्या है off-side नियम:-

“A player is in an ‘offside position’ if they are in the opposing team’s half of the field and also “nearer to the opponents’ goal line than both the ball and the second-last opponent.”

First Condition:- 

एक खिलाडी ‘off साइड’ पोजीशन में कहलाता है, यदि वह विरोधी टीम के हाफ में हो और या तो goal लाइन और बॉल के बीच में हो या फिर गोल लाइन और अपनी विरोधी टीम के सेकंड लास्ट खिलाडी के बीच में हो|

वैसे ऊपर दी गई Definition से आपको कुछ समझ नहीं आया होगा| आईये उदहारण से समझते हैं|

off side rule in hindi

यहाँ हम नीले खिलाडियों की बात करेंगे और देखेंगे इस टीम का कोनसा खिलाडी off साइड है| off साइड कोई खिलाडी है या नहीं यह एक सहायक रेफ़री निश्चित करता है जो हमेशा टच लाइन के पास खड़ा रहता है|

आप ऊपर दिए गए चित्र में  सफ़ेद बोल देख रहे हैं| यह अभी 1 नंबर नीले खिलाडी के पास है| अभी नीला खिलाडी विरोधी टीम के हाफ में हैं इसलिए इस हाफ में सिर्फ नीले खिलाडी ही off साइड rule के अंतर्गत आयेंगे| लाल खिलाडी इस चित्र के अनुसार off साइड के नियम के अंतर्गत नहीं आयेंगे|

जब भी किसी भी नीले खिलाडी के पास बोल होगी| लेकिन अभी खिलाडी ने बॉल को किक नहीं किया है| सिर्फ बॉल खिलाडी के पेरों के पास है|

उसी समय सहायक रेफ़री (टच लाइन के पास खड़ा हुआ रेफ़री) लाल टीम के गोल कीपर और एक अन्य लाल खिलाडी जो गोल कीपर के सबसे नजदीक है, के साथ में अपने दिमाग के अन्दर एक Imaginary लाइन खिचेगा और देखेगा इनके बीच में कोई नीला खिलाडी तो नहीं है|

अगर है तो वो खिलाडी off साइड में माना जाएगा| लेकिन ध्यान रहे अभी नीले खिलाडी ने बॉल को किक नहीं किया है सिर्फ बॉल इसके पेरों के पास है| उसी समय imaginary लाइन खींची जाएगी किक करने के बाद नहीं|

ऊपर दिए गए चित्र में बॉल 1 नंबर खिलाडी के पास है| उसी समय सहायक रेफ़री ने लाल गोल कीपर और गोल कीपर के सबसे पास वाले लाल खिलाडी के सटकर एक डॉटेड imaginary लाइन खिंची है|

और आप चित्र में देख सकते हैं इनके बीच में एक 2 नंबर नीला खिलाडी पहले से ही खड़ा हुआ है| इस स्तिथि में यदि 1 नंबर नीला खिलाडी 2 नंबर नील खिलाडी को बॉल पास करता है और 2 नंबर नीला खिलाडी बॉल दाग देता है तो यह गोल नहीं मन जाएगा|

Second Condition:-

एक खिलाडी off side कहलाएगा यदि वह विरोधी टीम की के goal लाइन और  बॉल के बीच में हो|

Off Side in hindi

ऊपर दिए गए चित्र में 6 नंबर खिलाडी off साइड में है क्योंकि यह सफ़ेद बॉल और goal लाइन के बीच में खड़ा हुआ है| इस स्तिथि में यदि 8 नंबर 6 नंबर को बॉल पास करता है और यह गोल दागता है तो यह गोल नहीं कहलाएगा|

off side rule in hindi

ऊपर दिए गए चित्र में सफ़ेद घेरे में खिलाडी off साइड में नहीं है|क्योंकि यह goal लाइन और 1 नंबर विरोधी खिलाडी के पीछे है|

लेकिन जैसे ही इसका साथी फुटबॉल को विरोधी टीम के गोल की तरफ मारता है तो सफ़ेद घेरे वाला खिलाडी आगे भागकर आ जाता है और गोल कर देता है तो यह गोल माना मजाएगा|

कहने का मतलब जब किसी खिलाडी के पास बॉल है और बॉल को किक करने से पहले से ही अगर उसका साथी विरोधी टीम के गोल लाइन और विरोधी खिलाडी और बॉल के बीच में है तब ही वह off साइड में कहलाएगा|

लेकिन बॉल को किक करने से पहले खिलाडी विरोधी खिलाडी के पीछे था लेकिन बॉल को हिट करने के बाद अगर साथी खिलाडी विरोधी टीम के गोल लाइन और विरोधी खिलाडी के बीच में आकर यदि गोल कर देता है तो गोल मन जाएगा|

आशा करता हूँ आपको समझ आ गया होगा| इससे अच्छा नहीं साझा सकता भाई में|

Free Direct Kick:-

अगर A टीम का कोई खिलाडी गलती करता है या विरोधी B टीम के खिलाडी के साथ दुर्व्यवहार और उसको चोट पहुचने की कोशिश करता है|

इस स्तिथि में रेफ़री B टीम को एक डायरेक्ट फ्री किक का अधिकार दे सकता है| डायरेक्ट फ्री किक उसी जगह से दी जाएगी जहाँ फ़ाउल हुआ है| विरोधी टीम के खिलाडी फ्री डायरेक्ट किक की पोजीशन से 9.1 मीटर की दूरी पर होने चाहिए और इसमें डायरेक्ट फ्री किक करने वाला खिलाडी सीधे गोल दाग सकता है अपने साथी खिलाडी को बॉल पास करने की जरुरत नहीं है|

Free Indirect Direct Kick:-

अगर A टीम का खिलाडी बार बार टेक्निकल गलती करता है इस स्तिथि में रेफ़री, विरोधी टीम B को फ्री indirect किक का अधिकार दे सकता है| फ्री indirect किक उसी स्थान से दी जाएगी जहाँ टेक्निकल फाल्ट हुआ है| इसमें किक मारने वाला खिलाडी सीधा गोल नहीं दाग सकता उसके बॉल पास करने के बाद एक बार बॉल उसके साथी खिलाडी और विरोधी खिलाडी के पैर से टच होनी चाहिए|

Penalty Kick:-

यदि A टीम का खिलाडी अपने पेनल्टी एरिया में ऐसा फ़ाउल करता है जो की डायरेक्ट फ्री किक के दायरे में आता है| लेकिन यह गलती अगर वह अपने पेनल्टी एरिया में करता है तो विरोधी टीम के खिलाडी को पेनल्टी किक दी जाती है|

इस पेनल्टी किक में विरोधी टीम का खिलाडी पेनल्टी एरिया में स्तिथ पेनल्टी पॉइंट से जो की goal लाइन से 11 मीटर की दूरी पर होता है|

बॉल को रख कर सीधे गोल में किक कर सकता है| गोल को सिर्फ गोल कीपर ही defend कर सकता है बाकि खिलाडी नहीं|

Throw-In:-

अगर A टीम के किसी खिलाडी के द्वारा बॉल टच लाइन से बहार चली जाती है तो विरोधी टीम के खिलाडी को थ्रो इन का मोका मिलता है| फील्ड के जिस स्थान पर बॉल फील्ड से बहार गई है उस जगह टच लाइन पर खड़े होकर और हाथों में बॉल उठाकर दोनों हाथ ऊपर करके बॉल को मैदान में दुवारा फेंकता है| विरोधी टीम के खिलाडी बॉल फेंकने वाले खिलाडी से करीब 2 मीटर की दूरी पर होने चाहिए|

Goal Kick:-

अगर A टीम का खिलाडी B टीम के गोल पोस्ट में गोल दागने की कोशिश करता है लेकिन बॉल बिना गोल पोस्ट में गए गोल लाइन से होकर फील्ड से बहार निकल जाती है| एक और शर्त आखिरी बार बोल A टीम के खिलाडी से ही टच होनी चाहिए| ऐसी स्तिथि में B टीम को goal kick मिलेगा|

Procedure of Goal Kick:-

goal किक में बॉल को goal एरिया में रखा जाता है और goal कीपर उसे पेरों से हवा में उछाल कर फील्ड में अपने साथी खिलाडी को पास कर देता हैं|

The Corner Kick:-

अगर A टीम का खिलाडी B टीम के गोल पोस्ट में गोल दागने की कोशिश करता है लेकिन बॉल बिना गोल पोस्ट में गए गोल लाइन से होकर फील्ड से बहार निकल जाती है| लेकिन आखिरी बार बोल B टीम के खिलाडी से  टच होती है|

ऐसी स्तिथि में A टीम को Corner kick मिलेगा|

source

दोस्तो आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी How to play football rules in hindi जरूर पसंद आई होगी| अगर आपके पास History of football in hindi और इसके Offside rules se related Hindi में कोई जानकारी हो तो

यह भी पढें:-

शतरंज खेलने के नियम और इतिहास

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here